किम जोंग की सेहत को लेकर US राष्ट्रपति ट्रंप ने बढ़ाया कंफ्यूजन

0

New Delhi/Atulya Loktantra : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नॉर्थ कोरियाई लीडर किम जोंग उन की सेहत को लेकर कंफ्यूजन और बढ़ा दिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहले कहा कि उन्हें किम की हालत के बारे में अच्छे से पता है लेकिन थोड़ी ही देर बाद उन्होंने कहा कि किसी को नहीं पता है कि किम जोंग कहां हैं.

सोमवार को उत्तर कोरियाई शासक किम जोंग उन की सेहत के बारे में जब ट्रंप से पूछा गया तो उन्होंने कहा, मैं आपको नहीं बता सकता हूं, मुझे इसके बारे में पूरा आइडिया है लेकिन मैं अभी इसके बारे में बात नहीं कर सकता हूं. मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं.

बाद में उसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रंप ने कहा, किम जोंग ने आखिरी शनिवार को कुछ नहीं कहा है. किसी को नहीं पता है कि वह कहां पर हैं, ऐसे में उन्होंने कोई बयान नहीं दिया होगा. ये सिर्फ एक ब्रेकिंग न्यूज है कि किम जोंग उन ने शनिवार को एक बयान जारी किया. मुझे ऐसा नहीं लगता है.

दरअसल, रविवार को नॉर्थ कोरिया की मीडिया ने खबर चलाई थी कि किम जोंग उन ने देश के कामगारों को शुक्रिया अदा किया है. जब भी किम जोंग की सेहत के बारे में कोई कयास लगने शुरू होते हैं, उत्तर कोरिया की मीडिया उनके बारे में ऐसी खबरें चलाने लगती है.

सीएनएन ने पिछले सप्ताह एक रिपोर्ट छापी थी जिसमें अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से कहा गया था कि किम जोंग उन की सर्जरी हुई है और वे गंभीर खतरे में हैं. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने कहा था कि ट्रंप प्रशासन किम जोंग के जुड़े सभी घटनाक्रमों पर नजर बनाए हुए है. मंगलवार को फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में ब्रायन ने कहा था, आपको पता है कि उत्तर कोरिया एक बंद सोसायटी है. वहां प्रेस को भी स्वतंत्रता नहीं है और किम जोंग उन की सेहत समेत उनकी तमाम सूचनाएं संदिग्ध होती हैं. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी कहा था कि ट्रंप प्रशासन किम से जुड़े हुए घटनाक्रमों पर निगरानी कर रहा है.

उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया केसीएनए के मुताबिक, किम जोंग उन आखिरी बार 11 अप्रैल को एक पोलितब्यूरो मीटिंग में नजर आए थे. उसके बाद से किम जोंग की गैर-मौजूदगी ने उनकी सेहत को लेकर कयासों को हवा दे दी. किम जोंग उन अपने दादा के जन्मदिवस के जश्न में भी शरीक नहीं हुए जबकि इस दिन राष्ट्रीय अवकाश होता है.

हालांकि, अमेरिका किम जोंग उन की सेहत को लेकर आ रही खबरों को लेकर बेहद गंभीर है और वह उत्तर कोरिया के तमाम एक्सपर्ट्स से संपर्क करने की कोशिश कर रहा है. अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने कहा था कि किम जोंग के उत्तराधिकारी और उत्तर कोरिया से जुड़े तमाम मामलों पर अनिश्चितता की स्थिति है.

नॉर्थ कोरिया के एक्सपर्ट्स और पूर्व राजदूतों का कहना है कि किम जोंग उन का लंबे समय से गायब रहना उनकी सेहत से जुड़ी अफवाहों को और मजबूत कर रहा है. प्योंगयांग भी किम जोंग को लेकर उड़ रहीं अफवाहों को शांत कराने के लिए ना तो उन्हें सार्वजनिक तौर पर पेश कर रहा है और ना ही उनका नेतृत्व दुनिया के सामने आ रहा है.

हालांकि, दक्षिण कोरिया किम जोंग उन की सेहत से जुड़ीं अफवाहों को सच नहीं मान रहा है. दक्षिण कोरिया की विदेश नीति सलाहकार मून चुंग इन ने सोमवार को कहा कि हमारी सरकार की स्थिति निश्चित है. किम जोंग उन जिंदा है और पूरी तरह से ठीक हैं. वह 13 अप्रैल से उत्तर कोरिया के वॉन्सन एरिया में रह रहे हैं. अभी तक कोई ऐसी गतिविधि भी सामने नहीं आई है जिससे किम की सेहत को लेकर कोई संदेह हो.

इससे पहले, दक्षिण कोरिया की एक वेबसाइट ने रिपोर्ट में कहा था कि सेटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि उत्तर कोरिया के वॉन्सन इलाके में किम जोंग उन की ट्रेन खड़ी है. हालांकि, इससे इस बात की पुष्टि नहीं होती है कि किम जोंग उन भी उसी इलाके में मौजूद हैं.

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here