दिल्ली में आज गिर सकते हैं ओले, हिमाचल में बारिश का अनुमान, पढ़ें अगले 72 घंटे का अलर्ट

0
Air Quality Index (AQI) एक्यूआई पहुंचा 415 पर, जहरीली हवा
File Photo

New Delhi/Atulya Loktantra News : मौसम ने कहर ढा रखा है. कड़ाके की सर्दी में सिहरते उत्तर भारत पर अब बारिश की मार भी पड़ रही है. राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में सोमवार को करीब 3 घंटे तक बारिश हुई. आज भी बारिश के साथ ओले गिरने का अलर्ट है. उत्तर प्रदेश पंजाब-हरियाणा के साथ पहाड़ी इलाकों में भी यही हालात दिखे.

दिल्ली समेत उत्तर भारत में आज भी बारिश का अनुमान जताया गया है. मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में ओले भी गिरेंगे. वहीं पंजाब, हरियाणा समेत तीनों पहाड़ी राज्यों हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में जोरदार बारिश का अलर्ट है. दो-तीन दिनों तक बारिश के दौर के बाद फिर से शीतलहर का प्रकोप शुरू हो जाएगा, यानि सर्द आफत का फिलहाल कोई अंत नहीं है.

अगले 4 दिन दिल्ली पर भारी
इस बीच मौसम विभाग ने चेताया है कि अगले 4 दिन दिल्ली पर भारी पड़ेंगे. विभाग ने पहले भी इसकी चेतावनी दी थी जो सच साबित होती दिख रही है. मौसम विभाग ने नई चेतावनी जारी की है कि आज दिल्ली एनसीआर में ओले गिरेंगे. मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार को पश्चिमी विक्षोभ अपने उच्च स्तर पर होगा और बिगड़े मौसम की मार अभी 6 जनवरी तक रहेगी.

अलर्ट पर दिल्ली
दिल्ली के लिए नए साल में ही मौसम विभाग ने ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी कर दिए हैं. सोमवार को ऑरेंज अलर्ट है. यानी खराब मौसम को लेकर सतर्क रहें. मंगलवार को यलो अलर्ट जारी किया गया है. उस दिन भी संभलकर रहना होगा. आने वाले 4 दिन तक तेज हवाएं चलेंगी. शीतलहर का सिलसिला भी चलता रहेगा.

रविवार को जमकर हुई बारिश
रविवार को राजधानी दिल्ली और एनसीआर की सुबह सिहरन पैदा करने के साथ ही तरबतर करने वाली रही. आसमान पर डेरा डाले बादल इस कदर बरस रहे थे मानो जनवरी नहीं जुलाई का मानसूनी महीना हो. सुबह-सुबह शुरू हुई बरसात रुक-रुक कर पूरे दिन जारी रही. दिल्ली हो या उसके आसपास के इलाके, हर तरफ मौसम की मार पड़ रही थी.

दिल्ली से लेकर नोएडा और गाजियाबाद तक बादल जमकर बरसे. सुबह के 5 बजे शुरू हुई बारिश कुछ देर के लिए थमने के बाद शाम तक रुक-रुक कर जारी रही. कड़ाके की ठंड के बीच हुई बारिश ने मुसीबत बढ़ा दी है.

बारिश की वजह से बढ़ा तापमान
मौसम विभाग के मुताबिक बारिश की वजह से न्यूनतम तापमान थोड़ा बढ़ गया है. सफदरजंग में न्यूनतम तापमान 9.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वहीं 25 मिलिमीटर बारिश हुई है. पालम में न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री दर्ज किया गया है जबकि वहां 18 मिलिमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई.

मौसम विभाग की तरफ से पहले ही अंदेशा जताया गया था कि साल की शुरुआत के तीसरे दिन से दिल्ली एनसीआर और उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड के साथ-साथ बारिश भी होगी. साथ ही आने वाले दिनों में शीतलहर का प्रकोप एक बार फिर दिल्ली एनसीआर और उत्तर भारत में तेजी से बढ़ेगा जिससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की जाएगी.

जनवरी में टूटा 15 साल का रिकॉर्ड
नए साल का स्वागत घने कोहरे और 1.1 डिग्री के टॉर्चर ने किया था. उस दिन पिछले 15 साल का रिकॉर्ड टूट गया था. अब मौसम के और खराब होने का अंदेशा है. विभाग के मुताबिक 6 जनवरी तक यही हाल रहेगा. इसके बाद 7 जनवरी से उत्तर भारत एक बार फिर कड़ाके की शीतलहर की चपेट में होगा.

काजीगुंड में करीब 9 इंच तक बर्फ की मोटी परत
इन दिनों कश्मीर की रंगत भी बदल गई है. फिजाओं में बर्फ ही बर्फ दिख रहा है. श्रीनगर, गुलमर्ग औऱ तमाम पहाड़ी इलाकों पर सफेद चादर बिछी हुई है. कल भी वहां जमकर बर्फबारी हुई. उत्तर कश्मीर के अधिकतर इलाकों में रविवार को देर रात से ही बर्फबारी शुरू हो गई थी. जानकारी के मुताबिक कल श्रीनगर में करीब 4 इंच तक बर्फबारी हुई. वहीं काजीगुंड में करीब 9 इंच तक बर्फ की मोटी परत बिछ गई. इस मौसम की वजह से श्रीनगर एयरपोर्ट पर उड़ानों की आवाजाही भी प्रभावित हुई.

जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे जाम
जम्मू कश्मीर में लगातार हो रही बर्फबारी से जबरदस्त शीत लहर चल रही है. घाटी में तो जैसे सफेद चादर ही बिछ गई है. श्रीनगर का लाल चौक पूरी तरह से बर्फ में लिपटा हुआ है, सड़कों पर और घरों पर बर्फ ही बर्फ है. बाजार लगातार हो रही बर्फबारी की वजह से सुनसान पड़े हैं. श्रीनगर में लगातार हो रही बर्फबारी का असर जम्मू तक पड़ा है. बनिहाल टनल के पास हो रही बर्फबारी की वजह से जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे पर जम्मू के ट्रैफिक को रोकना पड़ा. इससे हाईवे पर वाहनों की कतार लग गई.

बर्फ में फंसे 300 लोग निकाले
उत्तराखंड और हिमाचल, इन दोनों राज्यों में बर्फबारी ने जीना मुहाल कर दिया है. कई जगह हुई बारिश ने शीतलहर को जानलेवा तक बना दिया है. ऊपरी इलाके बर्फ की सफेद चादर में छिप गए हैं जबकि निचले इलाकों में प्रचंड ठंड ने रोजमर्रा की जिंदगी पर अच्छा खासा असर डाला है. मौसम विभाग का कहना है कि अभी अगले कुछ दिन इस शीतलहर को झेलना पड़ेगा. नए साल का जश्न मनाने गए सैकड़ों सैलानी अटल टनल के पास बर्फ में फंस गए. कुल्लू जिला प्रशासन ने अभियान चलाकर रविवार को सभी सैलानियों को सुरक्षित निकालने में कामयाबी हासिल की. बता दें कि वहां 300 से ज्यादा पर्यटक भारी बर्फबारी की वजह से फंसे हुए थे.

डलहौजी में बिछी सफेद चादर, आज भी बर्फबारी के आसार
हिमाचल प्रदेश के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल डलहौजी में फिर से मौसम ने करवट ली है. मिनी स्विट्जरलैंड के नाम से मशहूर इस जगह पर कड़ाके की ठंड पड़ रही है. रुक-रुक के बर्फ़बारी हो रही है. इन सबके बीच पर्यटकों का आना लगातार जारी है. नए साल के मौके पर पहुंचे कई पर्यटक तो इस मौसम का लुत्फ उठाने के लिए वहीं रूके हुए हैं. इन दिनों वहां पर्यटकों की भीड़ है. पहाड़ों पर बिछी बर्फ की सफ़ेद चादर उन्हें लुभा रही है. मौसम विभाग की मानें तो आने वाले दिनों में फिर से ज़बरदस्त बर्फ़बारी के आसार हैं.

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here