दो किलोमीटर तक बिना इंजन के चली सुपरफास्ट ट्रेन

0

Guwahati/Atulya Loktantra : पश्चिम बंगाल में बेंगलुरू-तिनसुकिया में सवार यात्रियों के लिए गुरूवार को दिन काफी भयावह था। यात्रियों की सांसे तब अटक गर्इं जब 21 बोगियों वाली गाड़ी का का इंजन उससे अगल हो गया। यात्रियों की उस समय सांस में सांस आई जब ट्रेन अलीपुरद्वार के मदारीहाट स्टेशन से कुछ दूरी पर जाकर रुकी।

यह घटना गुरुवार सुबह लगभग 9 बजे की है। यह ट्रेन असम जा रही थी तभी अचानक ट्रेन का इंजन उससे अलग हो गया। ड्राइवर को इस बात का अहसास लगभग 5-7 मिनट बाद हुआ। ड्राइवर ने तुरंत इसकी सूचना अलीपुरद्वार डिविजन के अधिकारियों को दी। ट्रेन रुकने के बाद भी ट्रेन में सवार यात्री के चेहरों पर डर साफ तौर पर देखा जा सकता था।

सौभाग्य की बात यह रही कि इस घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ। अधिकारियों ने बताया कि एसी स्पेशल ट्रेन से इंजन अलग होने के बाद वह धीरे-धीरे अपने आप रुक गई। इंजन जिस समय ट्रेन से अलग हुआ उस समय ट्रेन 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ रही थी।

ट्रेन के रुकने के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने बोगियों से इंजन को जोड़ा। ठीक तरह से जांच करने के बाद दोपहर के ढाई बजे ट्रेन को रवाना किया गया। कपलिंग टूटने की वजह से इंजन बोगियों से अलग हो गया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें