SP के दरवाजे सबके लिए खुले, कांग्रेस-बीएसपी किसकी तरफ, यूपी चुनाव की तैयारियों पर बोले अखिलेश यादव

    0
    20

    लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को कहा कि अगले साल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले गठबंधन के लिए उनकी पार्टी के दरवाजे सभी छोटी पार्टियों के लिए खुले हैं और वह कोशिश करेंगे कि ऐसे सभी राजनीतिक दल बीजेपी को हराने के लिए एक साथ आएं. उन्होंने कांग्रेस और बीएसपी से भी पूछा कि दोनों पार्टियां किसकी तरफ हैं.

    अखिलेश यादव ने न्यूज एजेंसी पीटीआई के साथ बातचीत में कहा, ”इन पार्टियों को फैसला करना चाहिए कि उनकी लड़ाई सपा से है या फिर बीजेपी से.” आगामी चुनाव के लिए संभावित गठबंधनों पर सपा अध्यक्ष ने कहा, “हमारी पार्टी के दरवाजे सभी छोटी पार्टियों के लिए खुले हैं. कई छोटे दल पहले से ही हमारे साथ हैं. अभी और भी आएंगे.”

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    इंटरव्यू के दौरान, अखिलेश यादव ने पेगासस मामले में केंद्र सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा, ”लोकसभा में उनके (एनडीए) पास 350 सीटें हैं. कई राज्यों में बीजेपी की सरकार है. सरकार क्यों और क्या पेगासस के जरिए से ढूंढने की कोशिश कर रही है? वे इसके जरिए से विदेशी ताकतों की मदद कर रहे हैं.” वहीं, जब उनके चाचा शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारियों के बारे में पूछा गया तो अखिलेश यादव ने कहा, ”हम कोशिश करेंगे कि सभी दल बीजेपी को हराने के लिए एकजुट हों.”

    भागीदारी मोर्चे पर क्या बोले अखिलेश यादव?

    ओम प्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के नेतृत्व वाले ‘भागीदारी मोर्चा’ पर जिसमें एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी हिस्सा लिया है, उस पर अखिलेश यादव ने कहा कि अब तक उनके साथ कोई बातचीत नहीं हुई है. सपा अध्यक्ष ने अन्य विपक्षी दलों, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से यह तय करने को कहा कि वे किस पक्ष में हैं. उन्होंने कहा, “इन पार्टियों को तय करना चाहिए कि वे किससे लड़ रहे हैं.”

    मायावती ने साधा है सपा पर निशाना

    बता दें कि बसपा प्रमुख मायावती ने अपने ट्वीट्स में अक्सर समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है. हाल के पंचायत चुनावों में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए भाजपा पर सरकारी तंत्र का उपयोग करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा था कि ये चाल पिछली सपा सरकार द्वारा इस्तेमाल किए गए तरीकों जैसी ही थी. बसपा और अन्य दलों द्वारा आयोजित ब्राह्मण सम्मेलनों सहित जाति सम्मेलनों के बारे में बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि सपा भी ऐसी बैठकों की व्यवस्था करती थी.उन्होंने कहा, ”हमारे पिछड़े सम्मेलन और इस तरह की अन्य बैठकें जारी हैं. दूसरी (कोविड) लहर की शुरुआत से पहले, पार्टी ने 150 विधानसभा क्षेत्रों को कवर करते हुए तीन दिवसीय शिविर किए थे. उन्होंने कहा, ”पार्टी विचारक जनेश्वर मिश्र की जयंती पर पार्टी 5 अगस्त को यात्रा निकालेगी. 15 अगस्त से बीजेपी के कुशासन का पर्दाफाश करने के लिए और यात्राएं निकाली जाएंगी.

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsनागरिकों के सम्मान की रक्षा के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत: जस्टिस ललित
    Next newsअमित शाह के यूपी दौरे के अहम सियासी संदेश, BJP ने तैयार किया ‘ब्‍लू प्रिंट’
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here