तोड़फोड़ करने वालों को नहीं छोड़ा जाएगा, तैयार की जा रही उनकी सूची : अनिल विज

गुरुग्राम। सेना की नई भर्ती योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर हरियाणा में शुक्रवार को दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहा। आपको बता दें कि अग्निपथ योजना से नाराज युवाओं ने सड़कों पर पहिए जलाए तो कुछ युवा नरवाना में रेल पटरियों पर बैठ गए और जींद-बठिंडा रेल मार्ग को अवरुद्ध किया। इसी बीच हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने कहा कि तोड़फोड़ करने वाले सेना में जाने वाले नहीं हो सकते हैं, वहां पर तो अनुशासित लोग जाते हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि विरोध प्रदर्शन करना हर व्यक्ति का हक है, लेकिन तोड़फोड़ करने वाले, आगजनी करने वाले लोग सेना में जाने वाले नहीं हो सकते हैं, सेना में तो अनुशासित लोग जाते हैं। हमारे देश में कुछ ऐसे तत्व हैं जो हर समय ऐसे मौकों की तलाश में रहते हैं कि देश की शांति को भंग किया जा सके। इसे किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। तोड़फोड़ करने वाले व्यक्तियों को छोड़ा नहीं जाएगा। उनकी सूची तैयार की जा रही है जो लोग आगजनी और तोड़फोड़ में शामिल हैं।

2 साल के अध्ययन के बाद आई अग्निपथ योजना

इसी बीच भाजपा नेता राज्यवर्धन सिंह ने बताया कि पूरे 2 साल के गहन अध्ययन के बाद भारतीय सेना इस तरह की योजना लेकर आई है जिसमें इन बातों का ध्यान रखा गया है कि किस तरह से भारत की सेना आधुनिक हो सके, किस तरह ज्यादा युवाओं को सेना में आने का अवसर मिल सके। उन्होंने कहा कि सेना में ट्रेनिंग के बाद जो युवा समाज में जाएंगे उन्हें कैसे बेहतर अवसर मिल सके, सेना के बजट का इस्तेमाल आधुनिकीकरण के लिए किया जा सके। मेरा नौजवानों से आग्रह है कि इसे समझें, इसमें सभी के लिए अवसर है।

गुरुग्राम में धारा 144 लागू

गुरुग्राम जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर धारा 144 लागू कर दी है, हालांकि अग्निपथ योजना को लेकर शुक्रवार को यहां पर कोई ताजा विरोध नहीं हुआ। उपायुक्त निशांत यादव ने कहा कि यह आदेश इसलिए जारी किया गया,क्योंकि दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहने की संभावना है और प्रशासन ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, बाजारों, राष्ट्रीय राजमार्गों और बिजली ग्रिड सहित जिले के विभिन्न स्थानों पर गुस्साई भीड़ के जुटने की आशंका जताई है।

Leave a Comment