अभय सिंह चौटाला के लिए खिसयानी बिल्ली खम्बा नोचे वाली कहावत हुई : कृष्ण ढुल

22

भाजपा विधायक लीला राम व रामपाल माजरा की भ्रष्टाचार सम्बन्धी शिकायत पर अवश्य होगी कार्रवाई : कृष्ण ढुल

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कृष्ण ढुल कई मामलों को लेकर पत्रकारों से हुए रूबरू

कैथल, 04 जून : अभय सिंह चौटाला लगातार सरकार पर हमला बोलते आ रहे हैं कि भाजपा सरकार पिछले एक वर्ष से दबाव में काम कर रही है। उनका कहना है कि जेजेपी लगातार सरकार पर दबाव बनाकर सरकार की किरकिरी करवा रही है, इसके पलटवार में भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कृष्ण ढुल ने कहा कि अभय सिंह चौटाला के लिए उस समय बड़ी मुश्किल की घड़ी बनी जब उन्होंने भावना में बहकर इस्तीफा दिया 26 जनवरी के बाद अभय चौटाला को था कि हालात सामान्य हो जाएंगे लेकिन स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ और उनका इस्तीफा दिए जाने के बाद भी किसान उनके साथ नहीं लगे तो अभय सिंह चौटाला के लिए आजकल खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे वाली कहावत सिद्ध हो रही है। कृष्ण ढुल ने कहा कि जहां तक जेजेपी और इनेलो का सवाल है तो वह उनके चाचा-भतीजे की लड़ाई है, इसमें बीजेपी की कोई दखलंदाजी नहीं है। बीजेपी की सहयोगी पार्टी जेजेपी है, जिस को साथ लेकर अच्छे से सरकार चलाई जा रही है। कृष्ण ढुल ने आज भाजपा जिला कार्यालय में पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।जिस प्रकार से बीजेपी और जेजेपी नेताओं, मंत्री और सांसदों का विरोध लगातार बढ़ रहा है, इसको लेकर कृष्ण ढुल ने कहा कि उन्होंने पहले भी किसानों और किसान संगठनों से अपील की थी कि वे विरोध छोड़कर अपनी जान व परिवार के बारे में सोचें, उनको बचाने का काम करें क्योंकि करोना का कहर काफी तेजी से फैला हुआ था। किसान संगठनों को बार-बार इस बारे में कहा भी जा रहा था लेकिन किसान नहीं माने और दिल्ली धरने के दौरान कई किसान संक्रमित मिले और करोना का प्रकोप गांव में भी लगातार बढ़ा। मुख्यमंत्री का हिसार में हुए विरोध के सवाल पर बोलते हुए कृष्ण ढुल ने कहा कि जब किसान संगठन वहां विरोध कर रहे थे तब तक मुख्यमंत्री जा चुके थे और जाने के बाद जिस प्रकार से विरोध हुआ, वह गलत था। किसान और प्रशासन का जो टकराव हुआ वह भी गलत रहा।

बॉक्स- कैथल में पूर्व संसदीय सचिव रामपाल माजरा और भाजपा विधायक लीलाराम गुर्जर द्वारा उठाए जा रहे भ्रष्टाचार के मामले के सवालों पर बोलते हुए कृष्ण ढुल ने कहा कि यह दोनों शिकायतें मुख्यमंत्री के संज्ञान में हैं और दोनों पर कार्रवाई शुरू हो चुकी है। एक मामले में जहां विजिलेंस जांच के आदेश दिए जा चुके हैं तो वहीं दूसरे में भी कमेटी गठित करके जांच की जा रही है। राशन डिपो पर मिलने वाले सरसों का तेल को बंद किए जाने के सवाल के जवाब में भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि अबकी बार सरकार को उम्मीद थी कि 75 लाख टन सरसों मंडियों में आएगी लेकिन 25 लाख टन लगभग सरसों आई है। हर बार हैफेड खरीद करता था, तेल निकाला जाता था लेकिन अबकी बार प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार जनहित को देखते हुए और बीपीएल परिवारों को राशन डिपो के माध्यम से दिए जाने वाले राशन को लेकर प्रतिबद्ध है और उपलब्ध करवाएगी। उन्होंने कहा कि आज की बैठक संगठनात्मक बैठक थी जिसमें भाजपा द्वारा प्रदेश स्तर पर हेल्पलाइन का गठन किया गया था जिसमें कोआर्डिनेशन करोना को लेकर था लेकिन देश भर में अब करोना के केस कम हो रहे हैं, उस हेल्पलाइन को परामर्श हेल्पलाइन टीम बनाया जा रहा है और इसको लेकर पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ओपी धनखड़ के नेतृत्व में 4 कैटेगरी में विभाजित किया गया है। सबसे पहले उन मरीजों का पता लेंगे जो कोविड-19 से संक्रमित होकर हॉस्पिटलों में हैं, दूसरा वह जो डिस्चार्ज हो चुके हैं, तीसरा वे जिनके आइसोलेशन का पीरियड खत्म हो चुका है और इलाज करवा रहे हैं, चौथा वे जिनको करोना संक्रमण के बाद 1 महीने का समय हो गया है, इन सभी से व्यक्तिगत समन्वय संगठन की टीम बनाएगी और उनका स्वास्थ्य हालचाल जानेगी। इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

फोटो- पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कृष्ण ढुल।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here