बच्चों के चेहरे पर मुस्कान लाना ही परिषद का उद्देश्य-ज्ञानचंद गुप्ता

  • 5 महीने के बेसहारा बच्चे को मिला नया परिवार, विधानसभा स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने दिया आशीर्वाद
    अडॉप्शन सेरेमनी समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में ज्ञानचंद गुप्ता ने की शिरकत
    बाल कल्याण के लिए 5 लाख रुपये अनुदान की घोषणा की
    पिछले 50 वर्षों से बाल कल्याण के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही परिषद-प्रवीण अत्री
    मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने की कार्यक्रम की अध्यक्षता

पंचकूला: हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा संचालित शिशुगृह पंचकूला में अडॉप्शन सेरेमनी समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में विधानसभा स्पीकर श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने शिरकत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव श्री प्रवीण अत्री ने की। अडॉप्शन सेरेमनी समारोह में विधानसभा स्पीकर श्री ज्ञान चंद गुप्ता जी ने 5 माह के बच्चे को नए परिवार को गोद देकर बच्चे के सुखद भविष्य एवं उत्तम स्वास्थ्य की कामना की। 5 महीने के बच्चे को अपनों ने बेसहारा कर दिया था लेकिन उसका सहारा बना हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा संचालित शिशुगृह, जहां बच्चे का पालन पोषण हुआ और बच्चे को नया परिवार मिला और परिवार को बच्चे के रूप में सहारा मिला। मुख्य अतिथि विधानसभा स्पीकर श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि बच्चे को नए परिवार के साथ नया जीवन मिला है और इस शुभ अवसर पर मुझे बच्चे को आशीर्वाद देने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद पिछले 50 वर्षों से बाल कल्याण के क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रही है। जिसके लिए परिषद के नेतृत्वकर्ता मानद महासचिव श्री प्रवीण अत्री को शुभकामनाएं दी। श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि परिषद सही मायने में बाल कल्याण के कार्यों को आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। प्रदेश भर में अनेकों योजनाएं एवं गतिविधियां बाल कल्याण के लिए चलाए जा रहे हैं। उन्होंने इस अवसर पर 5 लाख रुपये अनुदान राशि परिषद को देने की घोषणा की। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मानद महासचिव श्री प्रवीण अत्री ने मुख्य अतिथि श्री ज्ञान चंद गुप्ता जी का कार्यक्रम में पहुंचने पर आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वे अपने व्यस्त कार्यक्रमों से समय निकालकर बच्चे को अडॉप्शन समारोह में आशीर्वाद देने पहुंचे। तुमने कहा कि बच्चों के प्रति विधानसभा स्पीकर श्री ज्ञानचंद गुप्ता जी का विशेष प्रेम रहा है और वे इससे पूर्व भी शिशुगृह आते रहे हैं। उन्होंने कहा कि परिषद अब तक 600 बच्चों को अडॉप्शन में दे चुकी है। उन बच्चों को परिषद के माध्यम से नया परिवार मिला है। उन्होंने कहा कि परिषद इस वर्ष को स्वर्ण जयंती वर्ष के रूप में मना रही है और इस वर्ष बाल कल्याण के कार्यक्रमों के माध्यम से प्रदेशभर के बच्चों को परिषद के कार्यों, गतिविधियों व योजनाओं के माध्यम से जागरूक किया जाएगा ताकि प्रदेश के सभी बच्चों को बाल कल्याण की योजनाओं का लाभ मिल सके। मंच संचालन जनसूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी प्रदीप दलाल ने किया। इस अवसर पर चेयरपर्सन ममता, कोषाध्यक्ष पवन कुमार, वरिष्ठ बाल कल्याण अधिकारी ओपी मेहरा, नोडल अधिकारी मिलन पंडित, जिला बाल कल्याण अधिकारी भगत सिंह व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

Leave a Comment