आतंकवाद,हिंसा ,देश व समाज के लिए खतरा साबित हो रहा है: कमलेश शास्त्री

आतंकवाद विरोधी दिवस पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट कमलेश शास्त्री जिला बाल कल्याण अधिकारी ने दिलाई शपथ

नूंह। आतंकवाद विरोधी दिवस पर कमलेश शास्त्री जिला बाल कल्याण अधिकारी ने कहा कि यह दिवस कोरोना वायरस महामारी के बीच मनाया जा रहा है। हर वर्ष 21 मई को मनाए जाने वाले आतंकवाद विरोधी दिवस पर युवाओं सहित समाज के अन्य वर्गों को आतंकवाद विरोधी शपथ दिलाई जाती है। इस दिन आतंकवादियों द्वारा की जाने वाली हिंसा के बारे में जागरूकता फैलाई जाती है। आतंकवाद विरोधी दिवस युवाओं को आतंकवाद के खिलाफ जानकारी प्रदान करने, मानवीय पीड़ा और जीवन पर इसके प्रभाव के बारे में जानकारी देने के लिए मनाया जाता है। इस के अतिरिक्त यह दिन लोगों को आतंकवाद के एक असामाजिक कृत्य और आतंकवाद विरोधी सामाजिक कार्य के लिए भी जागरूक करने के लिए अवगत कराता है। मनचंदा ने कहा कि आतंकवाद विरोधी दिवस को मनाने का उद्देश्य युवाओं को आतंकवाद और हिंसा के पथ से दूर रखना, शांति और मानवता का संदेश फैलाना, लोगों को जागरूक करना, एकता को बढ़ावा देना, युवाओं में देशभक्ति जगाना और आतंकवाद से पीड़ित आम लोगों की पीड़ा को सार्वजनिक करना है। कमलेश शास्त्री जिला बाल कल्याण अधिकारी ने बच्चों को शपथ दिलाई। की हम भारतवासी अपने देश की अहिंसा और सहनशीलता की परंपरा में दृढ़ विश्वास रखते है और निष्ठापूर्वक शपथ लेता है कि हम सभी प्रकार के आतंकवाद और हिंसा का डटकर विरोध करेंगे। हम मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शांति, सामाजिक सद्भाव और सूझबूझ कायम रखने और मानव जीवन मूल्यों को खतरा पहुंचाने वाली विघटनकारी शक्तियों से लड़ने की शपथ लेते है। श्री अशरफ मेवाती ने कहा कि लोगों के बीच एकता का बीजारोपण करके लोगों के बीच एकता को बढ़ावा देना, युवाओं को शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान करना ताकि वे विभिन्न आतंकवादी समूहों में शामिल न हों तथा देश में आतंकवाद, हिंसा, लोगों, समाज और पूरे देश पर इसके खतरनाक प्रभाव के बारे में जागरूकता पैदा करना आदि मुख्य उद्देश्य हैं। कमलेश शास्त्री जिला बाल कल्याण अधिकारी ने आतंक विरोध दिवस पर सुंदर पोस्टर बनाने और स्लोगन लिखने की प्रशंसा की। ने शपथ भी ली। उन्होंने सभी का आतंकवाद के खात्मे के लिए पोस्टर बना कर और शपथ ले कर अपील करने के लिए साधुवाद किया। इस अवसर पर अनाथ आश्रम के इंचार्ज अनिल इत्यादि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे

Leave a Comment