विश्व स्वास्थ्य दिवस पर जिले के 15 हजार बच्चों व 51 हजार लोगों पोषण का लाभ देने का लिया संकल्प

14

नूंह : विश्व स्वास्थ्य दिवस पर बुधवार को एक राष्ट्र स्तरीय बेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमें पोषण व कल्याण के क्षेत्र में कार्य रहे एम वे इंडिया और एसआरएफ फाउंडेशन की अहम भूमिका रही। इस मौके पर मुख्य रूप से राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सदस्य ज्योतिका कालरा, संयुक्त निदेशक, महिला और बाल विकास विभाग हरियाणा की संयुक्त निदेशक राजबाला कटारिया, द कॉएलिशन फॉर फूड एंड न्यूट्रिशन सिक्योरिटी (सीएफएनएस) कार्यकारी निदेशक डॉ. सुजीत रंजन, एमवे इंडिया एंटरप्राइजेज प्राईवेट लिमिटेड एवं मुख्य विपणन अधिकारी अजय खन्ना, एमवे इंडिया एंटरप्राइजेज प्राईवेट लिमिटेड के डॉ. सिरीमावो नायर, खाद्य और पोषण में प्रोफेसर परिवार और सामुदायिक विज्ञान संकाय महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ौदा, जिला प्रतिरक्षण और बाल स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बसंत कुमार दुबे सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे। इस मौके पर एसआरएफ फाउंडेशन निदेशक डॉ. वाई सुरेश रेड्डी व एमवे इंडिया के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर अजय खन्ना ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य दिवस के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक बेहतर, स्वस्थ दुनिया बनाने की थीम देश के प्रत्येक बच्चे के लिए जीवन को स्वस्थ और बेहतर बनाने के लिए सर्वोत्तम संभव तरीके से कार्रवाई को मजबूत करने के लिए एक स्पष्ट आह्वान है। उन्होंने पावर आफॅ 5 की शुरूआत की। जिसका उद्वेश्य बचपन के कुपोषण के मुद्दे पर जागरूकता बढ़ाना। इसके अलावा बड़े पैमाने पर माताओं व समुदाय के बीच जरूरी व्यवहार में बदलाव लाना है। इस दौरान नूंह जिले के 0 से 8 वर्ष की आयु के 15 बच्चों सहित 51 हजार लोगों को पोषण से संबंधित सेवाएं देने पर सांझेदारी तय की। एसआरएफ फाउंडेशन के निदेशक डॉ वाई सुरेश रेड्डी ने कहा कि वह एम वे इंडिया के साथ अगले दो साल में जिले में इस क्षेत्र में कार्य करेंगे। इसके लिए उन्होंने जिले के आम लोगों से सहयोग का आह्वान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here