अतुल्य लोकतंत्र न्यूज़

हरियाणा के नंबरदार हुए ( hightech ) हाईटेक, सरकार ने दिए स्मार्टफोन

सरकार व आमजन के बीच संवाद की अहम कड़ी है नंबरदार: श्री धानक

गुरुग्राम ( अतुल्य लोकतंत्र ): मुकेश बघेल/ हरियाणा के नंबरदारों को डिजिटिलाइजेशन की पहल से जोड़ते हुए उन्हें हाईटेक बनाने की दिशा में आज गुरुग्राम में हरियाणा के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के राज्य मंत्री श्री अनूप धानक ने 350 नंबरदारों को स्मार्टफोन खरीदने के लिए उपहार स्वरूप ₹9000 मूल्य के ई-रूपी वाउचर भेंट किए। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत गुरुग्राम के सेक्टर 44 स्थित अपैरल हाउस में आयोजित इस राज्य स्तरीय कार्य्रकम में हरियाणा प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला को बतौर मुख्यातिथि आना था लेकिन किन्ही कारणों से वे कार्यक्रम में नहीं पहुँच पाए और राज्यमंत्री श्री अनूप धानक ने ही मुख्य अतिथि की रश्म निभाई। श्री धानक ने नंबरदारों को स्मार्टफोन देने की मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की घोषणा को अमलीजामा पहनाते हुए योजना का विधिवत शुभारंभ किया।

कार्यक्रम में राज्यमंत्री श्री अनूप धानक ने नंबरदारों को संबोधित करते हुए कहा कि समाज में नंबरदारों की अहम भूमिका है। किसी व्यक्ति का कोर्ट में कोई मुकदमा हो या तहसील से संबंधित कोई कार्य अथवा सरकार की तरफ़ से मुआवजा वितरण का कार्य हो, आबियाना एकत्रित करने या खराब फसलों की गिरदावरी आप हर क्षेत्र में प्रमुखता से अपनी भूमिका का निर्वहन करते हैं। वहीं सरकार व आमजन के बीच संवाद स्थापित करने में भी आप एक महत्वपूर्ण कड़ी हैं। ऐसे में समाज में डिजिटल क्रांति के दौर में हो रहे बदलावों को ध्यान में रखते हुए आपको भी हाईटेक बनाने की आवश्यकता थी। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री ने इस दिशा में सार्थक पहल की और नंबरदारों को ₹9000 के मूल्य के स्मार्टफोन उपहार स्वरूप भेंट करने की योजना को मूर्त रूप दिया है। इस योजना का आज गुरुग्राम जिला से विधिवत शुभारंभ किया गया है।

श्री धानक ने कहा कि मोबाइल तो आपके पास पहले भी होंगे लेकिन सरकार ने आज गुरुग्राम से शुरू हुए इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम के माध्यम से उपहार स्वरूप स्मार्टफोन देने का वायदा पूरा कर आपको स्मार्टफोन से लैस कर हाईटेक बनाने की प्रक्रिया की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने राजस्व विभाग को डिजिटिलाइजेशन करने के लिए कई पहल की हैं । राज्य सरकार डिजिटाईजेशन को बढ़ावा देकर सरकारी कामकाज में पारदर्शिता ला रही है। आज प्रदेश में 40 विभागों की 500 से अधिक सेवाएं ऑनलाइन की जा चुकी हैं जिनको आप अपने स्मार्टफोन पर भी देख सकते हैं।

राज्यमंत्री ने नंबरदारों द्वारा कोरोना काल में दिए गए सहयोग के लिए उनका धन्यवाद करते हुए कहा कि आज प्रदेश में मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री के नेतृत्व में सरकार आपका मान सम्मान बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। नंबरदारों को मिलने वाला मानदेय ₹1500 से बढ़ाकर दोगुना कर ₹3000 किया गया है। उन्होंने आशा जताते हुए कहा कि आपको दिए गए यह स्मार्टफोन गांव की समस्याओं को प्रशासन व सरकार तक पहुँचाने में निर्णयक साबित होंगे। साथ ही आपकी कार्यकुशलता में भी बढ़ोतरी होगी और कार्यों में तेजी लाने के प्रमुख कारक बनेंगे।

समारोह में हरियाणा के भू-राजस्व अभिलेख विभाग की निदेशक आमना तस्नीम ने गुरुग्राम रेंज के विभिन्न क्षेत्रों से आए नंबरदारों का योजना के प्रति मार्गदर्शन करते हुए कहा कि आप सभी को डिजिटल प्रक्रिया से जोड़ने के लिए शुरू की गई इस पहल के तहत राज्य के सभी जिलों में जिला स्तर पर शिविरों अथवा मेलों का आयोजन किया जाएगा जिसमें उपहार स्वरूप ₹9000 का ई- वाउचर दिया जाएगा जिसे दिखाकर आप मोबाइल स्मार्ट्फ़ोन ख़रीद सकते हैं । उन्होंने बताया कि यदि कोई नंबरदार ₹9000 से अधिक मूल्य का मोबाइल फोन लेना चाहता है तो वह प्रीपेड ई -वाउचर के साथ अतिरिक्त कीमत देकर अपनी पसंद का मोबाइल ले सकता है।

श्रीमती तस्नीम ने कहा कि स्मार्टफोन के माध्यम से सभी नंबरदारों को सरकार की नई योजनाओं और घोषणाओं से अपडेट रहने में मदद मिलेगी। वहीं स्मार्टफोन के माध्यम से वे अपने जिला के विभिन्न क्षेत्रों के कलेक्टर दरों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ साथ किसी भी प्राकृतिक आपदा की अग्रिम सूचना जैसे बाढ़ की संभावना आदि व सोशल मीडिया के माध्यम से एक-दूसरे के संपर्क में रह सकते हैं और किसी भी कानून व्यवस्था के विषय या उनके गांव में नए विकास कार्यों के बारे में जिला प्रशासन के साथ जानकारी का आदान-प्रदान कर सकते हैं।

कार्यक्रम में गुरुग्राम के उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने अपने स्वागत संबोधन में कहा कि पिछले कुछ वर्षों में हरियाणा सरकार ने राजस्व विभाग में कई नई योजनाएँ लागु की हैं जिसमें राजस्व रिकॉर्ड को ऑनलाइन करने, गिरदावरी की प्रक्रिया को ऑनलाइन करने जैसे महत्वपूर्ण निर्णयों के जरिए सरकार ने एक पारदर्शी सुशासन देने की पहल की है। इसी क्रम में नंबरदारों को स्मार्टफोन से लैस कर उन्हें हाईटेक बनाने जैसी निर्णायक पहल की शुरुआत गुरुग्राम जिला से की जा रही है। उन्होंने कहा कि नंबरदार राजस्व प्रणाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। राजस्व विभाग की सभी महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं में नंबरदारों की अहम भूमिका रहती है।

उन्होंने कहा कि उनका मानना है सरकार से स्मार्टफोन मिलने के उपरांत सभी नंबरदार अपने राजस्व विभाग से जुड़े कार्यों को और भी बेहतर तरीके से कर पाएंगे। इससे राजस्व विभाग के सुशासन लाने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों में निश्चित ही सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम में आयोजित इस दो दिवसीय राज्य स्तरीय कार्यक्रम में गुरुग्राम जिला के 350 नम्बरदारों को पहले दिन व इतने ही नम्बरदारों को दूसरे दिन स्मार्टफोन दिए जाएंगे।
कार्यक्रम में नंबरदारों को स्मार्टफोन खरीदने के लिए भेंट किए गए ई-रूपी वाऊचर के जारीकर्ता इंडियन बैंक के कार्यकारी निदेशक इमरान अमीन सिद्दकी ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में जहां पर भी निवेश की आवश्यकता है उनका बैंक पूरी प्रतिबद्धता के साथ अपने सहयोग के लिए तत्पर है।

वितरण समारोह में सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग द्वारा बनाई गई एक शार्ट फ़िल्म दिखाई गई जिसमें राजस्व विभाग व नंबरदारों को डिजिटलाइज करने की दिशा में किए गए प्रयास दर्शाए गए।
इस अवसर पर गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद, एनपीसीआई के मुख्य उत्पादक अधिकारी कुणाल कलावतिया, जेजेपी के राष्ट्रीय संगठन सचिव राजेन्द्र सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अंतराम तंवर, जिलाध्यक्ष ऋषिराज राणा,
गुरुग्राम की एसडीएम अंकिता चौधरी सहित अन्य अधिकारीगण व पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Comment