Haryana Budget LIVE: 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को मुफ्त मिलेगी शिक्षा , SYL नहर के लिए…

0
27

हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल बतौर वित्त मंत्री भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार का दूसरा बजट पेश कर रहे हैं। बजट टैब के जरिए ऑनलाइन पेश किया जा रहा है। डिजिटली बजट पेश करने की शुरुआत मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ही की थी और यह परंपरा आगे भी जारी रहने की उम्मीद है। इस बार का बजट 155645 करोड़ रुपये का है।

वित्त मंत्री द्वारा बजट में निम्नलिखित घोषणाएं की जा रही हैं…

  • MDU, KU में KG से PG प्रणाली शुरू होगी, जिसके लिए 20 करोड़ रुपये आवंटित होंगे। पॉलिटेक्निक मानेसर में इंजीनियरिंग प्रौद्योगिकी संस्थान बनेगा। कॉलेजों व विश्विद्यालयों में एलुमनी सप्ताह आयोजित होंगे।
  • परिवहन विभाग के लिए 2408, वन विभाग के लिए 443 ओर पर्यावरण विभाग के लिए 14 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। 2025 तक ऊष्मायन केंद्र से 50 प्रतिशत छात्रों को व्यावसायिक शिक्षा देने का लक्ष्य है, इसके लिए 10 करोड़ आवंटित होंगे।
  • 9वीं से 12वीं तक के सभी बच्चों को मुफ्त शिक्षा मिलेगी। 192 करोड़ रुपये गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए आवंटित किए गए हैं।
  • परिवहन वाहनों की फिटनेस को लेकर 6 केंद्र स्थापित किए जाएंगे। इनमें अम्बाला, करनाल, हिसार, रेवाड़ी, फरीदाबाद और गुरुग्राम शामिल हैं। फिलहाल केवल रोहतक में एक केंद्र है।
  • विशेष शिक्षा क्षेत्र बनेंगे। वंचित छात्रों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। उच्च वित्तीय सहायता के लिए 114 करोड़ रुपए का जेंडर इनक्लूजन फंड बनेगा। हिसार, करनाल में भी सुपर 100 कार्यक्रम के दो केंद्र बनेंगे। 10 करोड़ रुपये आवंटित होंगे।
  • सरकारी स्कूलों में 700 करोड़ से डिजिटल क्लास रूम बनाने के साथ टैबलेट का प्रावधान होगा। 2025 तक राष्ट्रीय शिक्षा नीति को पूर्ण रूप से लागू करने का लक्ष्य है। पहली से तीसरी तक के 8400 स्कूलों के 6 लाख विद्यार्थियों को प्रारंभिक भाषा व गणितीय कौशल प्रदान किया जाएगा।
  • स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 7731 करोड़ का बजट पेश किया गया है। यह पिछले वित्त वर्ष से 20 फीसदी ज्यादा है। राजस्व विभाग के लिए 1302 और आबकारी कराधान विभाग के लिए 285 करोड़ देने का प्रस्ताव पेश किया गया है।
  • खेलो इंडिया गेम्स 2021 के लिए पंचकूला के ताऊ देवी लाल स्टेडियम में हॉकी, फुटबॉल, बास्केटबॉल व वॉलीबॉल के नए मैदान बनाए जाएंगे। पंचकूला में राज्य स्तरीय चोट उपचार पुनर्वास केंद्र स्थापित होगा। मंडल स्तर के ये चार केंद्र रोहतक, गुरुग्राम, करनाल व हिसार में बनेंगे।
  • SYL नहर के निर्माण के लिये 100 करोड़ का प्रावधान किया गया है। मेवात को पेयजल उपलब्ध करने को 100 क्यूसिक की मेवात फीडर नहर का निर्माण होगा।
  • 5 लाख रुपये तक की सालाना आय वाले परिवारों को अनुपातिक आधार पर लाभ दिया जाएगा। 1000 हेल्थ वेलनेस सेंटर शुरू होंगे।
  • कर्मचारियों, पेंशनरों व उनके आश्रितों को इनडोर उपचार उपलब्ध कराने के लिए हरियाणा कैशलेस स्वास्थ्य योजना का विस्तार किया गया है। 5081 करोड़ सिंचाई ओर 3402 करोड़ जन सवास्थ्य विभाग के लिए आवंटित किए गए हैं।
  • आम, अमरूद और सिट्रस फलों के बागों पर सब्सिडी की सीमा 16 हजार रुपये से बढ़ाकर 20 हजार रुपये प्रति एकड़ की गई है। उन्‍होंने कहा कि अमरूद के लिए एक उत्कृष्टता केंद्र स्थापित करने की योजना है। 70 लाख पशुधन के लिए पंडितम दीनदयाल उपाध्याय सामूहिक पशुधन बीमा योजना शुरू की जाएगी।
  • हरियाणा सरकार के पैकेज्ड उत्पादों की बिक्री के लिए 22 जिलों में दो हजार रिटेल आउटलेट खोलने की योजना है। भंडारण गृहों में CCTV कैमरे लगेंगे।
  • फसल अवेशेषों के उपयोग के लिए हरियाणा में पेट्रोलियम मंत्रालय के सहयोग से 100 कंप्रेस्ड बायो गैस तथा बायो मास प्लांट स्थापित होंगे। वर्ष 2021-22 में धान के अधीन क्षेत्र का क्षेत्रफल दो लाख एकड़ कम करने की योजना है।
  • हरियाणा के स्कूलों, कालेजों, तकनीकी विश्वविद्यालयों व संस्थानों में 125 मृदा जांच प्रयोगशालाएं स्थापित होंगी। 2021-22 में कम से कम एक लाख एकड़ भूमि सुधार का प्रस्ताव है मार्च 2022 तक एक हजार किसान उत्पादक संगठन स्थापित होंगे।
  • शिक्षा के विकास के 18410 करोड़ रुपए का बजट दिया गया है। यमुनानगर, कैथल और सिरसा में मेडिकल कॉलेज बनाए जाएंगे। महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में कैंसर विज्ञान केंद्र स्थापित किया जाएगा। अनुबंध आधार पर 100 आयुष सहायकों व 22 आयुष कोच की भर्ती होगी। सभी के लिए खेल विजन लागू होगा।
  • कैथल जिले के कस्बे राजौंद ओर हिसार के सिसाय में STP स्थापित किए जाएंगे। CHC में अल्ट्रासाउंड व अन्य डायग्नोस्टिक सेवाओं का विस्तार होगा। हर जिला अस्पताल में ICU व प्राइवेट रूम स्थापित होंगे।
  • 350 चिकित्सा अधिकारियों और 60 दंत चिकित्सकों के पद सृजित किए जाएंगे। हर सिविल अस्पताल में 200 बेड उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • सर्वसमावेशी बीमा योजना शुरू की जाएगी। बीमा योजना के लिए 2021-22 में 10798 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
  • नई शिक्षा नीति के तहत 21962 आंगनबाड़ियों में प्राथमिक शिक्षा दी जाएगी। 1135 प्ले स्कूल मार्च 2021 से शुरू होंगे। दूसरे चरण में 2865 आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में अपग्रेड किया जाएगा।
  • सरकार ने वृद्धावस्‍था पेंशन में 250 रुपये की वृद्धि कर दी है। अब यह पेंशन 2500 रुपये कर दी गई है। यह वृद्धि एक अप्रैल से लागू होगी।
  • अनुसूचित जाति के लोगों को मिलने वाली कानूनी सहायता योजना की राशि 11 हजार रुपये से बढ़ाकर 22 हजार रुपये रुपये करने का भी ऐलान किया गया है।
  • मुख्यमंत्री ने अंत्योदय उत्थान अभियान शुरू करने की घोषणा की। इसके तहत एक लाख निर्धनतम परिवारों की पहचान करक उनकी न्यूनतम आर्थिक सीमा 1.80 लाख तक पहुंचाने
  • को कदम उठाए जाएंगे। मुख्यमंत्री अंत्योदय उत्थान अभियान 2025 तक चलाया जाएगा।
  • प्रदूषण मुक्त खेती का लक्ष्य हासिल करना सरकार की प्राथमिकता है। 3 साल में एक लाख एकड़ क्षेत्र को कवर किया जाएगा। किसान मित्र याेजना और हर खेत-स्‍वस्‍थ खेत योजना शुरू करने की घोषणा की। 1000 किसान ATM स्थापित किए जाएंगे।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 5080 गांवों में 24 छंटे बिजली उपलब्ध कराई गई है। अब अन्य गांवों को भी इस योजना में शामिल करेंगे। 125 नई मृदा जांच प्रयोगशाला
  • स्थापित की जाएंगी।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि 45066 करोड़ स्टेट डेवलपमेंट गोल से सबंधित योजनाओं के लिए आवंटित किए गए। 2021-22 के लिए राजकोषीय घाटा सकल राज्य घरेलू उत्पाद का 3.83 फीसदी अनुमानित है। फरवरी 2021 तक 26038 करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र किया, यह पिछले साल से 11.36 प्रतिशत अधिक है।
  • इस बार का बजट 155645 करोड़ रुपये का है। पिछले वर्ष के बजट से 13 फीसदी अधिक बजट प्रस्ताव पेश किया गया है। बजट का 25 प्रतिशत पूंजीगत खर्च और 75 फीसदी राजस्व व्यय होगा।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बजट राज्‍य के सांसदों, विधायकाें व विभिन्‍न लोगों के सुझावों के आधार पर तैयार किया गया है। प्रदेश को विकास की दिशा में आगे बढ़ाना इस बजट का मुख्‍य उद्देश्‍य है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल और लॉकडाउन की चुनौतियों से निपटते हुए भी बजट तैयार किया गया है। इसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभारी हूं, जिनके हौंसले और हिम्मत के दम पर ही हम कोरोना महामारी से लड़ पाए और अपने ही देश में कोरोना वैक्सीन बनाकर जनता को राहत दे पाए।
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 12 बजकर 4 मिनट पर गणपति वंदना ‘वक्रतुंड महाकाय, सूर्यकोटि समप्रभ:, निर्विघ्नम कुरुमे देव सर्व कार्येसु सर्वदा’ से शुरू किया बजट भाषण।
  • बजट पेश करने से पहले पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि वे प्रदेश सरकार इस दूसरे बजट को आजादी की 75वीं वर्षगांठ को समर्पित करते हैं।

कोरोना काल में सरकार को हजारों करोड़ का नुकसान हुआ

कोरोना महामारी फैलने के कारण लगे लॉकडाउन में हरियाणा सरकार को करीब 12 हजार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ, जिससे अब कम करते हुए 8000 करोड़ तक सरकार ले आई है। इस नुकसान की भरपाई के लिए सरकार ने 5000 करोड़ से ज्यादा का कर्ज लिया है।

1,42,34,378 करोड़ रुपये था 2020-21 का बजट

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 28 फरवरी 2020 को विधानसभा में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 1,42,34,378 करोड़ रुपये का बजट पेश किया था। उन्होंने पूरा बजट भाषण पढ़ने में 2 घंटे 32 मिनट लगाए थे। सूटकेस की जगह टैब से बजट प्रस्तुत करने की उन्होंने शुरूआत की थी।

बीते बजट में इन क्षेत्रों पर था फोकस

  • कृषि के लिए 5,474 करोड़ रुपए आवंटित करते हुए किसानों को बड़ी राहत दी गई थी। 7.50 रुपए प्रति यूनिट की जगह 4.75 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली देने का सीएम ने एलान किया था।
  • स्वास्थ्य एवं चिकित्सकीय शिक्षा के लिए 6,533 करोड़ रुपये का प्रस्ताव। भिवानी, जींद, महेंद्रगढ़ और गुरुग्राम में चार नए मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की थी। प्रत्येक जिले में कैथ लैब, एमआरआई, प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अल्ट्रासांउड का प्रावधान था।
  • शिक्षा बजट में बढ़ोतरी की गई थी। 19639 करोड़ का बजट रखा गया था। पहली बार शिक्षा बजट में 15 प्रतिशत वृद्धि का का प्रस्ताव किया गया।
  • किसान, महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने की घोषणा की गई थी। किसान कल्याण प्राधिकरण में विशेष महिला सेल की स्थापना का प्रावधान किया। महिला किसानों के लिए सब्जी मंडियों में 10 प्रतिशत स्थान तय किए।
  • गोदामों में चोरी रोकने के लिए वहां सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रावधान। किसानों की आय दोगुनी करने पर सरकार का जोर रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here