चित्रगुप्त पूजन से लेखनी, वाणी और विद्या का मिलता है वरदान : मेघना श्रीवास्तव

0
फरीदाबाद ( अतुल्य लोकतंत्र ) : श्री चित्रगुप्त पूजन महोत्सव का आयोजन बड़े ही धूमधाम से कायस्थ महासभा, विनय नगर, फरीदाबाद में किया गया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती मेघना श्रीवास्तव मौजूद रही वहीं अतिथि के रूप में स्वावलंबन ट्रस्ट के राष्ट्रीय महासचिव राघवेंद्र मिश्रा, स्वावलंबन ट्रस्ट लीगल सैल के अधिवक्ता आर.के. श्रीवास्तव मौजूद थे। इस मौके पर श्रीमती मेघना श्रीवास्तव ने कहा कि चित्रगुप्त जी का जन्म ब्रह्मा जी के चित्त से हुआ था और इनका कार्य प्राणियों के कर्मों के हिसाब किताब रखना है।
उन्होंने बताया कि मुख्य रूप से इनकी पूजा भाई दूज के दिन होती है, इनकी पूजा से लेखनी, वाणी और विद्या का वरदान मिलता है। उन्होंने कहा कि चित्रगुप्त जी का विवाह भगवान सूर्य की पुत्री यमी से हुआ था, इसलिए वह यमराज के बहनोई हैं, यमराज और यमी सूर्य की जुड़वा संतान हैं। उन्होंने बताया कि पुराणों के अनुसार चित्रगुप्त पूजा करने से विष्णुलोक की प्राप्ति होती है वहीं साहस, शौर्य, बल और ज्ञान की भी प्राप्ति होती है। इस अवसर पर श्रवण लाल, अतुल श्रीवास्तव ( राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष स्वावलंबन ट्रस्ट), राममनोहर भूषण (जिला अध्यक्ष फरीदाबाद स्वावलंबन ट्रस्ट), प्रमोद, शिव कुमार, राजेश चन्द्र, सुनील वर्मा, राजीव, राकेश वर्मा, अमन, नलिन विलोचन कर्ण संजय श्रीवास्तव सहित कायस्थ महासभा विनय नगर के सभी सम्मानित सदस्यों ने श्रद्धा भक्ति के साथ के साथ कार्यक्रम को सफल बनाया।
उधर ईस्माईलपुर में भी श्री चित्रगुप्त समाज कल्याण संस्थान द्वारा चित्रगुप्त पूजनोत्सव मनाया गया, जिसमें मुख्य रूप से विशेश्वर लाल कर्ण, सतीश दत्ता, हीरा लाल दास, संजय कुमार श्रीवास्तव, सुधीर कर्ण,अजय , रतनेश मल्लिक,कौशल मल्लिक,सूर्य कुमार दत्ता,प्रमोद कर्ण  अतुल कुमार श्रीवास्तव, अभिषेक कर्ण आदि की उपस्थिति रही।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here