हर घर तिरंगा, घर घर तिरंगा अभियान, प्रतियोगिताएं आयोजित

शिक्षा विभाग के आदेशानुसार गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल एन आई टी तीन फरीदाबाद में प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में जूनियर रेडक्रॉस, गाइड्स और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड ने हर घर तिरंगा, घर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत भाषण, कविता पाठ और पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित की। विद्यालय की जूनियर रेडक्रॉस और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड प्रभारी प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित किया गया अभियान है। इसका शुभारम्भ करने के पीछे उद्देश्य सभी में झंडे के प्रति सम्मान और जुड़ाव को बढ़ाना है। हम इस वर्ष 75वां ‘स्वतंत्रता दिवस मना रहें हैं। इस अवसर को मनाने के लिए अमृत महोत्सव की शुरुआत की गयी है। ये क्षण भारत के सभी नागरिकों के लिए बहुत ही विशेष है। इसीलिए हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के सभी नागरिकों को स्वतंत्रता का आनंद मनाने के लिए ‘हर घर तिरंगा’ अभियान में सम्मिलित होने का आग्रह किया है, प्राचार्य मनचंदा ने छात्राओं को बताया कि हमारे देश भारत का तिरंगा झंडा राष्ट्रीय ध्वज है। इसमें तीन रंग हैं और साथ में अशोक चक्र है। तीन रंगों में केसरिया, सफेद और हरा रंग है और इसके मध्य में नीले रंग से बना अशोक चक्र है। इस वर्ष देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगाँठ पर अमृत महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सभी नागरिकों को अपने घरों पर 13 से 15 अगस्त 2022 राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील की है। हर घर तिरंगा अभियान से देश के नागरिकों में देशभक्ति व ध्वजा के प्रति सम्मान व जुड़ाव में वृद्धि होगी। प्राध्यापिका शीतल और कविता ने कहा कि 22 जुलाई 1947 को पहली बार तिरंगा झंडा को राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपनाया गया था। छात्रा अंजली ने बताया कि हर घर तिरंगा घर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत जनभागीदारी के साथ 13 से 15 अगस्त के बीच 20 करोड़ से भी अधिक लोग अपने घरों में झंडे फहराएंगे। ये सरकारी और निजी प्रतिष्ठानों पर भी लागू होगा। इसके लिए सरकार द्वारा नोडल अधिकारीयों की नियुक्ति भी की जा चुकी है। प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने भाषण, कविता पाठ और पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रथम रहने वाली छात्राओं अंजली, पायल और कनक का अभिनंदन किया तथा कार्यक्रम कॉर्डिनेटर प्राध्यापिका मोनिका, शीतल और हिंदी प्राध्यापिका कविता एवम अन्य सभी प्रतिभागिता कर रही छात्राओं का स्वागत किया।

Leave a Comment