प्रदूषण पर सख्ती:औद्योगिक संस्थानों में अगले आदेश तक नहीं चलेंगे डीजल जनरेटर सेट, इंडस्ट्री एसोसिएशनों को जारी किया नोटिस

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आदेश पर यहां के औद्योगिक संस्थानों में अगले आदेश तक डीजल जनरेटर सेट चलाने पर रोक लगा दी गई है। इस बारे में हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सभी इंडस्ट्री एसोसिएशन को पत्र लिखकर इस बारे में जानकारी दे दी है। आदेश का उल्लंघन करने पर भारी भरकम जुर्माना किया जा सकता है। दरअसल बोर्ड ने ये आदेश दिल्ली एनसीआर में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान लागू होने के चलते दिया है। एनसीआर में ग्रेप गत 15 अक्टूबर से ही लागू कर दिया गया है। क्योंकि शहर का प्रदूषण स्तर लगातार बढ़ रहा है। शनिवार की बात करें ताे फरीदाबाद एनसीआर के टॉप फाइव प्रदूषित शहरों में रहा है। यहां का पीएम 2.5 स्तर 442 और बल्लभगढ़ का 430 रिकॉर्ड किया गया।

सोमवार से विभागों को एटीआर देना अनिवार्य

हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की क्षेत्रीय अधिकारी स्मिता कनौडिया ने बताया कि सीपीसीबी के आदेश पर सभी औद्योगिक संस्थानों में अगले आदेश तक डीजल के जनरेटर चलाने पर रोक लगा दी गई है। जिले के सभी एसोसिएशन को नोटिस भेजकर अपने अपने औद्योगिक क्षेत्रों में आदेश का पालन कराने को कहा गया है। उद्यमियों की मानें तो इस वक्त फरीदाबाद में 15 से 18 हजार छोटी बड़ी औद्योगिक इकाईयां संचालित होती हैं।

सोमवार को सभी विभागों काे देना होगा एटीआर

बता दें कि प्रदूषण नियंत्रित करने की सबसे अधिक जिम्मेदारी नगर निगम, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, एचएसआईआईडीसी, पीडब्ल्यूडी बी एंड आर, स्मार्ट सिटी लिमिटेड, एफएमडीए, एनएचएआई की है। बोर्ड के अधिकारी ने कहा कि सभी विभागों से कहा गया है कि वह सोमवार से उनके द्वारा किए गए कार्यों की पूरी डिटेल बोर्ड को उपलब्ध कराएं। इन विभागों की एटीआर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को भेजी जाएगी।

रोडवेज से बसों की संख्या बढ़ाने को कहा

बल्लभगढ़ के क्षेत्रीय अधिकारी दिनेश कुमार ने बताया कि लोग अपने निजी वाहनेां का प्रयोग कम से कम करें इसके लिए जीएम रोडवेज काे पत्र लिखकर बसों की संख्या और उनकी फ्रीक्वेंसी बढ़ाने को कहा गया है। उन्होंने शहरवासियों ने अपने साधन का प्रयोग करने के बजाय सार्वजनिक साधनों जैसे रोडवेज और मेट्रो सेवा का सहारा लेने की गुजारिश की है।

टाॅप फाइव शहरों में रहा फरीदाबाद

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों पर नजर डालें तो शनिवार को फरीदाबाद टॉप फाइव प्रदूषित शहरों की सूची में रहा। आंकड़ों के मुताबिक शाम छह बजे फरीदाबाद का एक्यूआई 449, बल्लभगढ़ का 432, गुड़गांव का 458, नोएडा का 457, ग्रेटर नोएडा का 406, गाजियाबाद 462, दिल्ली का 439 रिकॉर्ड किया गया है।

Leave a Comment