लक्ष्य को पाने के लिए करें कठोरतम प्रयास – रोल मॉडल कार्यक्रम आयोजित

0
Role model program conducted
Role model program conducted

फरीदाबाद ( अतुल्य लोकतंत्र ) : हरियाणा शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद में प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में रोल मॉडल कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बी के हॉस्पिटल की डिप्टी सिविल सर्जन डॉक्टर शीला भगत ने शिरकत की। कार्यक्रम में महिला एवम् बाल विकास विभाग से आंगनवाड़ी सुपरवाइजर शालू और स्वास्थ्य विभाग से टी बी काउन्सलर सुभाष गहलोत भी उपस्थित रहे।

रोल मॉडल कार्यक्रम से बालिकाओं को अपने लक्ष्य निर्धारण

प्राचार्य एवम् सैंट जॉन ब्रिगेड अधिकारी रविन्द्र कुमार मनचंदा ने कहा कि रोल मॉडल कार्यक्रम से विद्यालय की बालिकाओं को अपने लक्ष्य निर्धारण करने में सरलता होती है कि

कैसे और किस प्रकार उन्हें अपने लक्ष्य तक पहुंचने का प्रयास करना है?

कठिन परिश्रम, समर्पण और अनुशासन द्वारा उस लक्ष्य को प्राप्त कर मंजिल तक पहुंचना बिल्कुल संभव किया जा सकता है। मुख्य अतिथि और बालिकाओं की रोल मॉडल डिप्टी सिविल सर्जन डॉ शीला भगत ने विद्यालय की बालिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा ही वह जादुई छड़ी है जिसे अच्छी तरह प्राप्त कर आप जीवन में उन्नति के पथ पर अग्रसर हो सकते हो।

भारत देश की बालिका प्रत्येक क्षेत्र में निरंतर आगे बढ़ रही है समुद्र से लेकर अंतरिक्ष तक, सिविल सर्विसेज, आई टी, एयर फोर्स, नेवी, आर्मी, देश में, विदेश में बालिकाओं का वर्चस्व बढ़ता ही जा रहा है।

कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं है जहां देश की बालिकाओं ने परचम ना लहराया हो। आंगनवाड़ी सुपरवाइजर शालू ने कहा कि आप चाहे विज्ञान, कॉमर्स, कला, संगीत आदि किसी भी माध्यम से उच्च शिक्षा प्राप्त करते हैं तो अवसरों की बहुतायत है आप का हुनर आप की योग्यता और आप के हौसलों को कोई परास्त नहीं कर सकता, आप अपने आप पर विश्वास रक्खे और कठिनतम प्रयास जारी रखें।

उन्होंने व्यकिगत स्वास्थ्य और स्वच्छता बनाए रखने का भी आह्वान किया। टी बी काउन्सलर सुभाष गहलोत ने बताया कि हमारे देश मे संभावनाओं की कमी नहीं है आप को अवसरों की तलाश कर उचित सामंजस्य बैठाना है, उन्होंने बालिकाओं को ट्यूबरक्लोसिस के विषय में भी जागरूक किया।

प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचंदा ने

सभी अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि बालिका सशक्तिकरण और बालिकाओं को निर्भय करने के लिए ऐसे प्रेरक आयोजन किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज बालिकाओं के रोल मॉडल के रूप में आप सब ने बच्चों का मार्गदर्शन किया और बताया कि लक्ष्य निर्धारित कर के समर्पित भाव से लक्ष्य प्राप्त करने का सार्थक प्रयास हमें शीघ्र मंजिल पर पहुंचा देता है।

केवल और केवल शिक्षा प्राप्त करके आज की बेटी हर मुकाम हासिल कर सकती है इसलिए खूब पढ़ाई करके अपनी मंजिल प्राप्त करो। बालिकाओं ने रोल मॉडल से प्रश्न भी पूछे, ये प्रश्न करियर और व्यक्तिगत स्वास्थ्य से संबंधित थे। प्राचार्य मनचंदा ने बेटियों की सबल बनने की सीख दी। कार्यक्रम के अंत मे प्राचार्य रविन्दर कुमार मनचन्दा ने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती ने कहा है कि उठो, जागो और दौड़ो और तब तक दौड़ो जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए।

उन्होंने गणमान्य अतिथियों, सभी एस एम सी सदस्यों, अभिभावकों, प्राध्यापिकाओं और सभी प्रतिभागी बालिकाओं का कार्यक्रम सफल बनाने के लिए आभार और धन्यवाद व्यक्त किया तथा आशा व्यक्त की कि वे सकारात्मक सोच से आगे बढ़ते हुए अपने विद्यालय रूपी परिवार का नाम रोशन करेंगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें