फरीदाबाद में वर्ष 2031 में 200 क्यूसेक अतिरिक्त पानी के लिए कार्ययोजना तैयार करें : कृष्णपाल गुर्जर

– एफएमडीए व नगर निगम अधिकारियों की मीटिंग के दौरान विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान दिए निर्देश

– गुरुग्राम से फरीदाबाद तक पश्चिमी यमुना नहर व एनसीआर चैनल का पानी पाईपलाईन के जरिए फरीदाबाद तक लाने की योजना लगभग अंतिम चरण में

फरीदाबाद, 01 सितंबर। केंद्रीय ऊर्जा एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि फरीदाबाद शहर की आबादी लगातार बढ़ रही है। हमें भविष्य में शहर के लोगों के लिए बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ पेयजल का प्रबंध भी करना पड़ेगा। ऐसे में हमें फिलहाल वर्ष 2031 के लिए 200 क्यूसेक अतिरिक्त पानी की व्यवस्था करनी है। इस पानी को हम पश्चिमी यमुना नहर व एनसीआर चैनल से लेकर गुरुग्राम से फरीदाबाद तक पाईपलाईन के जरिए लाने की योजना पर काम कर रहे हैं। इस योजना को लेकर प्रस्ताव लगभग अंतिम चरण में है। केंद्रीय राज्यमंत्री गुरुवार को सर्किट हाउस में एफएमडीए, नगर निगम, एचएसवीपी व स्मार्ट सिटी के अधिकारियों के साथ अलग-अलग मीटिंग में विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।

केंद्रीय राज्यमंत्री ने बताया कि गुरुग्राम से फरीदाबाद तक पानी लाने के लिए कैनाल की बजाए पाईपलाईन ही बेहतर रहेगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जीएमडीए के साथ तालमेल कर एफएमडीए के अधिकारी दोनों जिलों में जरूरत के अनुसार जमीन का चयन करें और यह देखें कि इसके लिए किस-किस चीज की आवश्यकता है। अधिकारियों ने मीटिंग के दौरान बताया कि अभी 100 क्यूसेक अतिरिक्त पानी की आवश्यकता है और इसको लेकर ही कार्य कर रहे हैं। इस पर केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि हमें भविष्य की जरूरतों के अनुसार अभी से ही कार्ययोजना तैयार करनी है। उन्होंने निर्देश दिए कि वर्ष 2031 तक 200 क्यूसेक अतिरिक्त पानी के लिए योजना तैयार करें। इसमें 100 क्यूसेक पानी 2025 तक और बाकी 100 क्यूसेक वर्ष 2031 के लिए प्रस्तावित रहेगा। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यमुना नदी में बैराज के लिए भी संभावनाओं को तलाशें ताकि नदी बेसिन में लगाए गए रैनीवैल रिचार्ज रहें और बरसाती पानी को कुछ समय के लिए रोका जा सके। इस दौरान एफएमडीए के सीईओ सुधीर राजपाल ने कहा कि एफएमडीए की योजना शहर को बाहर से ज्यादा से ज्यादा पानी के साथ-साथ भूजल जैसे अपने संसाधनों को विकसित करने की है।

मीटिंग के दौरान विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने नगर निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह मुख्यमंत्री घोषणाओं की समीक्षा करें और उन्हें निर्धारित समय में पूरा करवाएं। इसके साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि जितने भी विकास कार्य चल रहे हैं उनकी संयुक्त निगरानी कमेटी बनाएं। उन्होंने कहा कि जो ठेकेदार समय से काम नहीं कर रहे हैं उनकी समीक्षा करें और उन्हें ब्लैक लिस्ट करें। इसके साथ ही उन्होंने शहर में चल रहे सभी विकास कार्यों की क्रमशः समीक्षा की और दिशा निर्देश दिए। इनमें पाली डबुआ रोड, सैनिक कालोनी रोड, नवादा आखरी रोड, सेक्टर-28 से सेहतपुर सहित कई कार्य शामिल हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि समस्या का समाधान करना हमारा कार्य है और कार्यों को समय पर पूरा करना अधिकारियों का कार्य है। उन्होंने कहा कि जो भी अधिकारी लापरवाही करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मीटिंग में अमृत योजना के विभिन्न कार्यों को लेकर भी समीक्षा की गई।

Leave a Comment