पोस्टर व पेंटिंग द्वारा आयुष्मान योजना पर डाला प्रकाश

0

Faridabad/Atulya Loktantra : राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा की जूनियर रेडक्रास और सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड ने विभागीय आदेशानुसार आयुष्मान भारत योजना जोकि भारत सरकार की एक स्वास्थ्य योजना है, के बारे में विद्यालय प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा द्वारा जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। जे आर सी व एस जे ए बी प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि इस योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों खासकर बीपीएल धारक को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है।

इस योजना के अन्तर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख रुपये तक का कैशरहित स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जा रहा है। एक आंकड़े के मुताबिक, देश भर के दस करोड़ बीपीएल धारक परिवार समेत लगभग पचास करोड़ लोग इस योजना का प्रत्यक्ष लाभ उठाने की दिशा की ओर अग्रसर हैं। इसके अलावा बाकी बची आबादी को भी इस योजना के अन्तर्गत लाने की योजना है। अंग्रेजी प्रवक्ता रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल 2018 को बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती के दिन छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से आरम्भ किया था।

जबकि अंत्योदय के स्वप्नद्रष्टा पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जन्मतिथि 25 सितंबर 2018 से प्रधानमंत्री मोदी द्वारा ही इस योजना को पूरे देश में लागू कर दिया गया है। इस योजना में दो प्रमुख तत्व शामिल है पहला राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, जो अब आयुष्मान भारत योजना में तब्दील हो चुकी है, के तहत सरकार दस करोड़ गरीब और कमजोर परिवारों के लगभग पचास करोड़ लाभार्थियों को लाभ पहुंचा रही है। यह हर परिवार के लिये, प्रति वर्ष पांच लाख रुपये के मूल्य के लिए माध्यमिक स्तर पर अस्पताल में देखभाल के लिये कवरेज प्रदान करती है।

सरकार इस योजना के माध्यम से गरीब, उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना चाहती है। क्योंकि सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना 2011 के हिसाब से ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना के दायरे में आ रहे हैं। इस योजना को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए पोस्टर और पेंटिंग प्रतियोगिता भी करवाई गई। जिस में लगभग पचास बच्चों ने प्रतिभागिता की। जिसमें मोनिका प्रथम, सुनील द्वितीय तथा नीतू तृतीय रही जबकि मीणा कुमारी तथा हिमांशी को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। इस सुंदर आयोजन में विशेष रूप से फाइन आर्ट्स प्रवक्ता प्रीति और सभी बच्चों व प्राध्यापकों हरिचंद, सरोज, राजीव जैन व रूप किशोर का विशेष योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here