भारतीय मजदूर संघ से संबंधित स्वास्थ्य कर्मचारी संघ फरीदाबाद द्वारा एक दिवसीय सांकेतिक हड़ताल

फरीदाबाद  09 जून, 2022: स्वास्थ्य विभाग के सभी एन.एच.एम.कर्मचारी एक दिन का संकेत आंदोलन हड़ताल कर लंबित विभिन्न प्रकार की मांगों का विरोध प्रदर्शन किया,एक दिवसीय सांकेतिक आंदोलन हड़ताल में मुख्य अतिथि भारतीय मजदूर संघ हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक कुमार, विशिष्ट अतिथि स्वास्थ्य कर्मचारी संघ हरियाणा प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेंद्र देशवाल,नगर निगम कर्मचारी संघ के मटरू लाल, हरियाणा हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ के बाबू आर्य, बिल्कुल ग्रुप फोर कर्मचारी संघ के शैलेश चौधरी, पवन सिंह, एनटीपीसी कर्मचारी संघ, पंजाब नेशनल बैंक एसोसिएशन, भारतीय मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष आरसी कटोच, भारतीय मजदूर संघ के जिला महामंत्री नीरज त्यागी,स्वास्थ्य कर्मचारी संघ हरियाणा जिला फरीदाबाद के जिलाध्यक्ष दीपक कुमार की अध्यक्षता में सभी संगठनों ने सभी ने एक दिवसीय सांकेतिक आंदोलन हड़ताल पर विरोध प्रदर्शन को पुरजोर समर्थन दिया, इस मौके पर चिकित्सा अधिकारियों में डाक्टर कुलदीप नागर जी, डॉक्टर दक्षय चौधरी जी, डॉक्टर सपनाधर, डॉक्टर सविता भुटानी, डॉक्टर नवदीप दलाल, डॉक्टर विनीता, डॉ अर्चना जैन, संदीप जैन, दीपक गोयल, बलराज सिंह, दिलबाग सिंह, साधना जी, मनीषा,प्रदीप शर्मा,सतपाल, राजकुमार जी, कुलभूषण, वीरेंद्र कुमार समस्त साथियों ने विरोध प्रदर्शन में भाग लिया।

प्रमुख मुख्य मांगे : मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार द्वारा 2 नवंबर 2021 को की गई घोषणा के बाद भी एनएचएम के कर्मचारियों को 7th Pay कमीशन का लाभ नहीं दिया गया है जोकि पूर्णतया माननीय मुख्यमंत्री के आदेशों की अवहेलना को दर्शाता है अतः जल्द से जल्द सातवें पे कमीशन का पत्र जारी किया जाए। माननीय मुख्यमंत्री की सहमति व 4 वर्ष बीत जाने के पश्चात भी एनएचएम की सर्विस बायलाज की वेतन विसंगति को दूर नहीं किया गया है संघ आपसे मांग करता है कि जल्द से जल्द वेतन विसंगतियों को दूर किया जाए। हरियाणा सरकार द्वारा घोषित कोरोना प्रोत्साहन राशि ₹5000 सभी कर्मचारियों को जल्द से जल्द  दी जाए जबकि माननीय मुख्यमंत्री महोदय हरियाणा सरकार के द्वारा पूर्व राशि की घोषणा 2020 में कर दी गई थी। सर्व शिक्षा अभियान की तर्ज पर एनएचएम कर्मचारियों को ग्रेच्युटी का लाभ दिया जाए। एनएचएम कर्मचारियों को कैशलेस मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई जाए। एनएच में कार्यरत चिकित्सा अधिकारियों को सेवा नियमों का लाभ दिया जाए व प्रारंभिक वेतन ₹80,000 किया जाए। एनएचएम कर्मचारियों को 58 वर्ष तक गेस्ट अध्यापकों की तर्ज पर सेवा सुरक्षा प्रदान की जाए। एड्स कंट्रोल सोसाइटी का कर्मचारियों को एनएचएम के तर्ज पर स्टेट शेयर व सेवा नियमों का लाभ दिया जाए। एनएचएम कर्मचारियों का वर्ष 2017 व 2019 में आंदोलन व हड़ताल के दौरान काटा गया वेतन एमपीएचई हड़ताल आंगनवाड़ी हड़ताल की भांति अवकाश मानकर वेतन जल्द जारी किया जाए। एनएचएम कर्मचारियों की तमिलनाडु और मणिपुर राज्य की तर्ज पर रेगुलर पॉलिसी बनाई जाए। एनएचएम कर्मचारी की आकस्मिक मृत्यु होने पर 2000000 की सहायता राशि व आश्रित को एनएचएम के तहत नौकरी प्रदान की जाए।संघ लगातार  प्रत्येक जिले में कष्ट निवारण समिति के गठन की मांग को उठाता रहा है वर्तमान में जिला कुरुक्षेत्र में अधिकारियों की मनमानी व अनदेखी के चलते एक एनएचएम कर्मचारी को आत्महत्या  जैसा कठोर कदम उठाना पड़ा है आपसे अनुरोध है कि प्रत्येक जिले में जिला कष्ट निवारण समिति बनाया जाए और संघ के 2 प्रतिनिधि को इसमें शामिल किया जाए। एनएचएम कर्मचारियों की वन टाइम वॉलंटरी ट्रांसफर पॉलिसी बनाया जाए व कपल केस लागू किया जाए। हटाए गए कोरोना योद्धा 39 दिनों से नौकरी बहाली को लेकर आंदोलन पर हैं कोरोणा योद्धा के प्रति सहानुभूति रखते हुए जल्द नौकरी बहाल की जाए। एनएचएम में आउटसोर्सिंग पॉलिसी के तहत लगाए गए कर्मचारियों को एनएचएम में शामिल किया जाए। UHC के कर्मचारियों को NHM के कर्मचारियों की तर्ज पर 01/01/2018 से service bylaws का लाभ देना सुनिश्चित करें। TB डिपार्टमेंट में एसटीएस (सीनियर ट्रीटमेंट सुपरवाइजर) का पे स्केल 1900  से बढ़ाकर 3200 किया जाए ।STLS ( सीनियर  ट्यूबरक्लोसिस लेब सुपरवाइजर ) का पे स्केल1900 से बढ़ाकर 3200 किया जाए DPS ( drug resistant TB & HIV supervisor) का पे स्केल 2800 से बढ़ाकर 4600 किया जाए Leprosy (Paramedical worker) का पे स्केल1900 से बढ़ाकर 3200 किया जाए।

Leave a Comment