…तो अब अपने पुराने स्वरूप में लौटेगी रानी की छतरी

0

Faridabad/Atuly Loktantra : 1700 ईस्वी की धरोहर राजा नाहर सिंह द्वारा रानी से अथाह प्रेम को लेकर उनके लिए बनवाई गई रानी की छतरी का हरियाणा सरकार अब सौंदर्यकरण कराने जा रही है । जिसका उद्घाटन आज बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा ने किया है।विधायक ने बताया कि करीब ढाई सौ साल पहले बनी रानी की छतरी और तालाब के लिए सरकार ने 1 करोड़ 77 लाख रूपए मंजूर किए हैं।

बल्लबगढ़ विधायक मूलचंद शर्मा ने कहा कि बल्लभगढ़ की पहचान रानी की छतरी से होती है और उनकी यह छत्रि अपने उसी पुराने स्वरूप में नजर आएगी इसके लिए सरकार ने राजस्थान से एक ऐसे ठेकेदार को ठेका दिया है जो पुराने राजा महाराजाओं के महलों का जीर्णोद्धार करता है रानी की छतरी में इस्तेमाल किए जाने वाला सारा सामान राजस्थान से आएगा धौलपुर से पत्थर आएगा यही नहीं विधायक ने बताया कि बड़ी 3 हाई मास्क लाइट लगेंगे जो कि नेशनल हाईवे से ही रानी की छतरी की शोभा बढ़ाएंगे इसके साथ लगते रानी के शाही तालाब का भी कायाकल्प किया जाएगा यही नहीं रानी की छतरी की जगह यदि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान की शाखा द्वारा दबाया हुआ है तो वह भी निकलवाई जाएगी.

विधायक ने बताया कि राजा नाहर सिंह रानी के लिए यह छतरी बनवाई थी और रानी नाहर सिंह महल से गुफा के द्वारा यहां पहुंचती थी और स्नान और पूजा-अर्चना करने के बाद वापस मिल जाती। ऐतिहासिक जगहों की रखरखाव करने वाली इनटेक नामक संस्था से जुड़े समाजसेवी आनंद मेहता ने बताया कि वह करीब 12 वर्षों से इसके सौंदर्यीकरण के लिए सरकार से लड़ाई लड़ रहे थे जिसे सरकार ने मंजूर कर लिया और अब रानी की छतरी को अपने पुराने खोए हुए स्वरूप में वापस लाया जाएगा।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here