जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में ‘एक पौध-एक संकल्प’ अभियान का शुभारंभ

0

– विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य पौधारोपण को लेकर संकल्प
– प्रकृति व पर्यावरण से करें लगाव, जीवनशैली का हिस्सा बनायेः कुलपति प्रो. दिनेश कुमार 

फरीदाबाद, 4 जून- विद्यार्थियों, कर्मचारियों तथा समाज के लोगों को नियमित रूप से पौधारोपण गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में आज ‘एक पौध-एक संकल्प’ अभियान का शुभारंभ किया। इस वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस की थीम ‘पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली’ है, जिसका उद्देश्य मनुष्य द्वारा पर्यावरण को हुए नुकसान से बचाने के सभी संभव प्रयास करना है।
अभियान की शुरुआत कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग, विभिन्न विभागाध्यक्षों तथा अधिकारियों ने पौधारोपण गतिविधि में भाग लिया और लगाये गये पौधों की देखभाल करने का संकल्प लिया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के स्वास्थ्य संकट ने हमें प्राकृतिक पारिस्थितिकी तंत्र और बदलती जैव विविधता के साथ अपने संबंधों पर पुनर्विचार करने के लिए मजबूर किया है। हमें सभी को प्रकृति और पर्यावरण की रक्षा के लिए आगे आना चाहिए।
वसुंधरा इको-क्लब के सदस्यों तथा पर्यावरण विज्ञान विभाग के संकाय द्वारा की गई पहल की सराहना करते हुए कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कहा कि विद्यार्थियों में प्रकृति और पर्यावरण के साथ जुड़ाव एवं लगाव की भावना पैदा करने के लिए ऐसी गतिविधियों के नियमित रूप से आयोजन की आवश्यकता होती है ताकि वे जीवन शैली को पर्यावरण के अनुरूप बना सकें। कुलपति ने कहा कि पौधारोपण से अधिक महत्वपूर्ण पौधे की उचित देखभाल है। इसलिए विश्वविद्यालय परिसर में समय-समय पर लगाए जाने वाले पौधों का सही तरीके से ध्यान रखा जाना चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों तथा कर्मचारियों से विश्वविद्यालय परिसर को ‘ग्रीन कैंपस’ के रूप में विकसित करने का आह्वान भी किया।
पर्यावरण विज्ञान विभाग की अध्यक्षा डॉ. रेणुका गुप्ता ने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य लोगों को जन्मदिन, वर्षगाँठ या त्यौहारों जैसे किसी विशेष अवसर पर कम से कम एक पौधा लगाने के लिए प्रेरित करना तथा उसकी देखभाल एवं पोषण करने का संकल्प लेने का आग्रह करना है।
उन्होंने बताया कि इस अभियान से जुड़ने के लिए प्रतिभागियों को अपने क्षेत्र में एक पौधा लगाना होगा तथा उसकी देखभाल करने और पोषण करने का संकल्प लेना होगा। इसके साथ ही प्रतिभागी को कैप्शन के साथ अपने पौधों की जियोटैग की गई तस्वीरें वसुंधरा इको-क्लब को भेजनी होंगी। ऐसा करने पर प्रतिभागी को पर्यावरण मित्र का ई-प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा। यह अभियान 31 अगस्त, 2021 तक जारी रहेगा।
इस अभियान में वसुंधरा इको-क्लब के सदस्य डॉ हरीश कुमार, डॉ साक्षी, डॉ रूपाली मदान, डॉ प्रीति, डॉ प्रशांत, डॉ सोमवीर, मनीष गुप्ता, डॉ अनीता और डॉ नविश महत्वपूर्ण योगदान निभा रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here