महिला सशक्तीकरण के लिए साइकिल रैली के माध्यम से निकाली गई जागृति यात्रा का शुक्रवार का फरीदाबाद में किया गया भव्य स्वागत,

महिला विरुद्ध अपराध के प्रति नागरिकों को जागरूक कर महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण के लिए किया प्रोत्साहित

फरीदाबाद: महिला सशक्तिकरण को लेकर हरियाणा पुलिस ने एक अनूठी पहल की शुरुआत की है। महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण के बारे में सामाजिक जागरूकता बढ़ाने के लिए साइकिल पर ‘जागृति यात्रा’ निकाली जा रही है जो 25 दिन में 23 पुलिस जिलों को कवर करते हुए 1194 किलोमीटर का सफर करके पूरे हरियाणा को कवर करेगी और 10 दिसंबर को वापिस पंचकूला पहुंचेगी जहां माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा इसका समापन किया जाएगा। इसका शुभारंभ पुलिस महानिदेशक पीके अग्रवाल, एडीजीपी कला रामचंद्रन और आईजी भारती अरोड़ा ने 15 नवंबर को पंचकूला में झंडी दिखाकर किया था।

यह यात्रा फरीदाबाद महिला थाना प्रभारी इंस्पेक्टर माया के नेतृत्व में 16 महिला पुलिसकर्मियों द्वारा साइकिल पर निकली जा रही है जिसमे फरीदाबाद की एचसी भतेरी और महिला सिपाही मंजीत का नाम शामिल है वहीं हरियाणा के अन्य जिलों से एएसआई कविता एचसी रीटा तथा कल्पना, महिला सिपाही टीना, गीता,अनु, पिंकी, कविता, कोयल, सुमन, दीपिका तथा अनु का नाम भी शामिल है।

हरियाणा पुलिस की ओर से चल रही जागृति यात्रा राज्यभर में महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण के प्रति जागरूक करेंगी। इस साइकिल यात्रा का मुख्य उद्देश्य महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को सुरक्षा मुहैया कराना है।

महिला सुरक्षा और सशक्तीकरण के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए निकाली रैली साइकिल रैली यानी जागृति यात्रा का शुक्रवार को फरीदाबाद में भव्य स्वागत किया गया।

सुबह सेक्टर 12 हुड्डा ग्राउंड में यात्रा का फूलों की वर्षा करने के साथ ही पुलिस बैंड से भव्य स्वागत किया गया। यहां पर आयोजित कार्यक्रम में काफी संख्या में लोग शामिल हुए। इनमें महिलाओं की संख्या अधिक थी। यहां पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। कार्यक्रम के माध्यम से संदेश दिया गया कि हरियाणा पुलिस महिलाओं और बच्चों के अपराधिक मामलों को गंभीरता से लेती है। ऐसे मामलों पर तत्परता से कार्रवाई की जाती है। सहायक पुलिस आयुक्त शैफुदीन के साथ ही महिला थाना सेंट्रल प्रभारी ने महिलाओं और बच्चों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुर्गा शक्ति एप, महिला हेल्पलाइन नंबर 1091 और डायल 112 की सुविधा पहले से ही मुहैया करवाई हुई है। हरियाणा सरकार द्वारा महिलाओं के उत्थान व उनकी आर्थिक सहायता हेतु विभिन्न योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई।

फरीदाबाद महिला थाना एनआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर माया ने कहा कि अपराध के घटित होने पर पीड़ित के चुप रहने से अपराध और अपराधी का हौसला बढ़ता है। समाज को महिलाओं के प्रति मानसिकता बदलने की जरूरत है। जब तक महिलाएं मन और शरीर से मजबूत नहीं होगी उनका सशक्त होना संभव नहीं है। महिलाओं को अपने अधिकारों की जानकारी होना बहुत जरूरी है। हर जिले में DALSA(जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण) स्थापित की गई है जिनके माध्यम से किसी भी प्रकार की कानूनी सहायता ली जा सकती है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्हें किसी भी प्रकार से डरने की जरूरत नहीं है। पुलिस प्रशासन द्वारा इस प्रकार के अपराधों से पीड़ित महिलाओं को संरक्षण दिया जाएगा। महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस थानों के साथ-साथ दुर्गा शक्ति का गठन किया गया है जो अपराधियों के विरुद्ध महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करने में शत प्रतिशत योगदान देगी।

फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर विकास अरोड़ा ने महिला पुलिस कर्मियों द्वारा निकाली जा रही जागरूकता रैली की सराहना करते हुए सभी महिला पुलिसकर्मियों को प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित करने की घोषणा करते हुए इसी प्रकार महिला सशक्तिकरण के प्रति कार्य करते रहने के लिए प्रोत्साहित किया।

Leave a Comment