जगदगुरु रामनुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने किया पूजन

0

Faridabad/ATULYA LOKTANTRA :बसंत पंचमी के पर्व पर श्री लक्ष्मीनारायण दिव्यधाम में विद्या की देवी का सविधि का पूजन हुआ। इस पूजन में जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने माता सरस्वती का षोडश उपचार विधि से अभिषेक किया।

इस अवसर पर उन्होंने भक्तों से कहा कि मानव जीवन को ढंग से जीने के लिए हमें ज्ञान की आवश्यकता होती है। इस ज्ञान के बल पर ही हमारे जीवन में भी बहुत सी बातें स्पष्ट होती हैं। इस ज्ञान की देवी माता सरस्वती हैं जिनका बसंत पंचमी के दिन विशेष रूप से पूजन किया जाता है। उन्होंने बताया कि वास्तव में माता का पूजन हमें ज्ञान की ओर आकर्षित करता है। यह हमारे धर्म की विशेषता है कि वह हमारे जीवन में करने योग्य और न करने योग्य स्थितियों को परंपरा एवं पर्वों के माध्यम से बताता है। बसंत पंचमी के अवसर पर सरस्वती पूजन भी हमें शिक्षा के महत्व की ओर लाता है।

जगदगुरु स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने यहां दिव्यधाम में स्थापित माता सरस्वती जी के उत्सव विग्रह का अभिषेक किया। जिसमें बड़ी संख्या में भक्तों ने भागीदारी की। आज बसंत पंचमी के अवसर पर दिव्यधाम में काफी संख्या में भक्त पहुंचे और श्री गुरु महाराज जी से आशीर्वाद लिया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें