कोरोना वायरस के मद्देनजर प्रदेश में जारी की गई एडवाइजरी, वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये दिए दिशा निर्देश

Faridabad/Atulya Loktantra : स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना वायरस के संबंध में प्रदेश के सभी जिलों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। एडवाइजरी में स्पष्ट किया गया है कि चीन से आने वाले पैसेंजर पर निगरानी रखी जाए और अगर उसमें लक्षण दिखते हैं तो सैंपल लेकर पुणे लैब में भेजे जाएं।

स्वास्थ्य विभाग एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मिशन डायरेक्टर प्रभजोत सिंह ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेसिंग से सभी जिलों के सीएमओ व अन्य अधिकारियों को कोरोना वायरस अलर्ट के संबंध में जरूरी दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर घबराने की काई आवश्यकता नहीं है केवल सावधानी बरत कर बीमारी से बचा जा सकता है। हरियाणा में अभी स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है।

मिशन डायरेक्टर ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति चीन से प्रदेश के किसी भी जिले में आता है तो उस पर निगरानी रखें। अगर उसमें लक्षण दिखते हैं तो इसकी सूचना अस्पताल को सिविल सर्जन कार्यालय व स्वास्थ्य विभाग निदेशालय को देनी होगी। इसके अलावा सक्रंमण संभावित व्यक्ति का सैंपल लेकर पूणे की नेशनल लैब में भेजना होगा। संक्रमण से संभावित व्यक्ति को अलग रखने, हाथ न मिलाने देने और यात्रा न करने देने की हिदायत दी जाए। इससे बचाव के लिए हाथों को दिन में कई बार साबुन व गुनगुने पानी से धोएं।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग अस्पतालों में आइशोलेशन वार्ड बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि अगर कोई कोरोना वायरस लक्षण से संबंधित संभावित केस आता है तो उसे 28 दिन तक इसमें रखा जाए। इसके अलावा मरीज को मास्क किट उपलब्ध करवाई जाए। देश के 19 हवाई अड्डों पर संभावित मरीजों की पहचान के लिए अलर्ट दिया गया है। अगर किसी यात्री में कोरोना वायरस के लक्षण दिखते हैं तो इसकी सूचना उसे स्वंय आगे आकर सिविल सर्जन कार्यालय या स्वास्थ्य विभाग के निदेशालय को देनी चाहिए। इसके अलावा उसका सैंपल लेकर पूणे की नेशनल लैब में भेजना होगा। कोरोना वायरस को लेकर लगातार कार्य करने वाला हैल्प लाईन नंबर 01123978046 जारी किया गया है।

वीडियों कांफ्रेंस में बताया गया कि गले में दर्द, जुकाम, खांसी, बुखार आना, कोरोना वायरस के शुरुआती लक्षण माने जाते हैं। इसके अलावा सिर दर्द रहना पूरे दिन, नाक बहना, तेज खांसी आना, अस्वस्थ महसूस करना, छाती में दर्द होना एवं सांस लेने में दिक्कत होना आदि लक्षण हैं। इससे बचाव के लिए हाथों को दिन में कई बार साबुन व गुनगुने पानी से धोएं। इसके अतिरिक्त मिशन डायरेक्टर प्रभजोत सिंह ने एचवनएनवन, हैपेटाईटिस तथा डीवॉर्मिंग-डे को लेकर भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर सीएमओ डॉक्टर सविता, डिप्टी सीएमओ राम भगत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment