जाओ धरती जाओ, शीघ्र ही मैं आता हूँ, दशरथ के घर जन्म ले रावण को खोज मिटाता हूँ

शहर की जानी मानी और सबसे ऐतिहासिक विजय रामलीला कमेटी, मार्किट नंबर 1 ने कल किया अपने 71 वे वार्षिक कार्क्रम का शुभारम्भ जिसमे मंच का उद्धघाटन मेयर सुमन बाला एवं कमेटी के पूर्व चेयरमैन स्वर्गीय श्री विश्वबंधु शर्मा के सुपुत्र सोनू शर्मा द्वारा करवाया गया। कमेटी ने करोना काल की दूसरी लहर में अपने स्तम्भ विश्वबंधु जी को खो दिया और कल कार्यक्रम की शुरवात उन्ही को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रामायण की ज्योत प्रचण्ड की गयी। प्रथम दृश्य में लंकादिपति रावण का प्रवेश देखते बनता था। कैलाश पर रावण(टेकचंद नागपाल) ने शंकर (अरुण भाटिया) को प्रसन्न कर चन्द्रहास प्राप्त की। वहीँ कैलाश पर तप करती वेदवती(जितेश आहूजा) का सत्य भंग करना चाहा तो उसने रावण को श्राप दिया की अगले जन्म में वो सीता बनकर आएगी और रावण के सर्वनाश का कारण बनेगी। इसके बाद दशरथ से अनजाने में हुई श्रवण (निमिष सलूजा) की हत्या का मार्मिक दृश्य प्रस्तुत हुआ जिसमे श्रवण के माता पिता ने दशरथ को पुत्र वियोग में तड़प कर मरने का श्राप दिया। दूसरी और रावण के अत्याचारों से त्रास धरती माता(प्रिंस) ने नारद (वैभव लड़ोइया) की मदद से भगवान विष्णु से गुहार लगायी की वो उनकी रक्षा करें और भगवान ने दशरथ के घर राम अवतार लेकर रावण के संघार की घोषणा की आज इसी मंच पर होगा भगवान राम का जन्म और राक्षसी तड़का का वध। कल दिखाया जायेगा सीता राम का दिव्य मिलन और स्वयंवर।

Leave a Comment