जर्मन कंपनी बॉश जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में स्थापित करेगी प्रशिक्षण केन्द्र

0
33

फरीदाबाद, 30 जुलाई – ऑटोमेशन प्रौद्योगिकी पर इंजीनियरिंग विद्यार्थियों को व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने जर्मन कंपनी बॉश लिमिटेड के संयुक्त तत्वावधान में उभरती आॅटोमेशन तकनीक पर आधारित एक प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करने का निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय परिसर में स्थापित होने वाले प्रशिक्षण केंद्र को लेकर विश्वविद्यालय ने कंपनी के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किये।
यह केंद्र ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए विद्यार्थियों और उद्योग से जुड़े लोगों के लिए सर्टिफिकेशन प्रोग्राम आयोजित करेगा। बाॅश द्वारा केंद्र में वाहनों की जांच एवं परीक्षण से संबंधित नवीनतम उपकरण उपलब्ध करवाये जायेंगे।
विश्वविद्यालय की ओर से कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थिति में समझौता पर हस्ताक्षर किए। वरिष्ठ महाप्रबंधक (तकनीकी सेवा और सहायता) श्री टी.एस. आनंदकुमार ने बॉश लिमिटेड से समझौता पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष प्रो. राजकुमार, निदेशक इंडस्ट्री रिलेशन्स डॉ रश्मि पोपली, डॉ निखिल देव और बॉश के क्षेत्रीय प्रशिक्षक पराग कावठेकर भी उपस्थित थे।
बॉश के साथ सहयोग पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय ने हमेशा विद्यार्थियों की रोजगार क्षमता और योग्यता में सुधार के लिए औद्योगिक सहभागिता को प्रोत्साहित किया है ताकि उद्योग की जरूरत के अनुरूप शिक्षा में सुधार लाया जा सके। उन्होंने कहा कि इस केन्द्र की स्थापना से विश्वविद्यालय परिसर के अंदर एक औद्योगिक वातावरण विकसित होगा और विद्यार्थियों को उद्योग आधारित प्रशिक्षण से लाभ होगा।
मैकेनिकल इंजीनियरिंग के अध्यक्ष प्रो. राजकुमार ने कुलपति को केंद्र और इसके उद्देश्यों से अवगत करवाया। उन्होंने ऑटोमेशन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उभरती तकनीकी और औद्योगिक आवश्यकताओं की जानकारी दी और बताया कि केंद्र कैसे विद्यार्थियों को आवश्यक तकनीकी ज्ञान और कौशल हासिल करने में सक्षम बनाएगा।

50% for Advertising
Ads Advertising with us AL News
Previous newsबल्लभगढ़ के पेप्सी व्यापारी के साथ लूट करने वाले तीन आरोपियों को CIA ऊचागांव ने दबोचा
Next newsPegasus Hacking Case: पेगासस मामले में अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, की गई ये मांग
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here