घर में लाचारी मे तडफ़ रहे वृद्ध दंपत्ति की फरीदाबाद पुलिस ने बचाई जान

9

पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह ने की थाना सेंट्रल टीम की तारीफ
फरीदाबाद, 12 मई । शहर में 220 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हैं फिर भी नाकों पर दिन रात ड्यूटी करते हैं। पुलिसकर्मी आपको दिख जाएंगे। दिन हो या रात पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह लगातार पुलिस कर्मियों की हौसला अफजाई कर उनका हौसला बढ़ाते रहते हैं। इस विकट परिस्थिति में पुलिस पर बड़ी जिम्मेदारी है। लॉक डाउन का पालन भी करवाना है और अपराधों पर भी नियंत्रण करना है। इन कठिन परिस्थितियों में भी पुलिसकर्मी मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। इसी क्रम में पुलिस टीम ने बेबसी की वजह से घर में तड़प रहे 90 से अधिक वर्ष के दो बुजुर्गों की जान बचाने में अहम भूमिका निभाई है। थाना प्रबंधक सेंट्रल इंस्पेक्टर महेंद्र सिंह ने क्षेत्र में रह रहे वरिष्ठ नागरिकों की मदद के लिए एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया हुआ है जिसमें वह वरिष्ठ नागरिकों की सेहत और उनके हालचाल के बारे में पूछताछ करते रहते हैं। साथ ही उनका हालचाल जानने के लिए उनके घर भी जाते रहते हैं। पुलिस सहायता से संबंधित कार्यों के साथ साथ यदि वरिष्ठ नागरिकों को दवा, मेडिकल या राशन पानी से संबंधित किसी भी प्रकार की सहायता की आवश्यकता है होती है तो वह उनकी मदद करने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं यदि उनके पास अपने वाहन नहीं है तो पुलिस के वाहन से उनको हॉस्पिटल या चिकित्सीय सुविधा / मदद मुहैया करवाई जाती है। इसी माध्यम से थाना प्रबंधक को सूचना मिली थी कि सेक्टर 14 के एक मकान में एक बुजुर्ग पति-पत्नी जिनकी उम्र 90 वर्ष से अधिक है, कोई सहारा ने होने की वजह से वह अपने घर में लाचार अवस्था में पड़े हैं। सूचना पर तुरंत कार्यवाही करते हुए उप निरीक्षक प्रवीण कुमार की अगुवाई में पुलिस टीम मौके पर पहुंची और दोनों बुजुर्ग दंपतियों को नीचे फर्श पर पड़ा हुआ पाया। इसके पश्चात पुलिस टीम ने दोनों बुजुर्गों को उठाकर चारपाई पर बैठाया और उनके लिए चाय पानी और भोजन का प्रबंध किया। दोनों बुजुर्गों की उम्र काफी ज्यादा है। इनके दोनों बेटे बाहर रहते हैं और फिलहाल कोई उनकी देखभाल करने के लिए मौजूद नहीं है। बुजुर्ग दंपतियों ने बताया कि उनका बेटा इंग्लैंड में रहता है इसलिए अब उनकी सेवा करने के लिए कोई भी उनके पास नहीं है। इसके पश्चात पुलिसकर्मियों ने बुजुर्ग दंपतियों से उनके बेटे का फोन नंबर लेकर उनसे बात की और उन्हें उनके माता-पिता की लाचारी के बारे में बताया जिसे सुनकर उनके बेटे ने जल्द वापस आकर अपने माता-पिता की देखभाल करने का विश्वास दिलाया और पुलिस द्वारा की गई उनकी माता पिता की मदद के लिए पुलिस टीम का धन्यवाद किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here