क्रोना की चुनौती से सभी को मिलकर लड़ना होगा :कृष्ण पाल गुर्जर 

0

– कोरोना आपदा को लेकर गठित जिला कंसलटेटिव कमिटी की मीटिंग में किया संबोधित

– जिला में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं: गरिमा मित्तल

कहा, रविवार को आठ मीट्रिक टन ऑक्सीजन बोकारो से जिला में पहुंचा वह 9 मेट्रिक टन हरियाणा सरकार के एलोकेशन से प्राप्त हुआ

फरीदाबाद, 25 अप्रैल। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि आज कोरोना महामारी हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती के रूप में खड़ी है। इस चुनौती को हमें मिलकर पार करना है। जरूरतमंद लोगों को समय पर बिस्तर व ऑक्सीजन जैसी महत्वपूर्ण चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध करवानी है। इस कार्य में प्रशासनिक अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को मिलकर कार्य करना होगा। केंद्रीय राज्य मंत्री रविवार को कोरोना आपदा से निपटने के लिए बनाई गई जिला स्तरीय कंसलटेटिव कमिटी की मीटिंग में अपने विचार दे रहे थे। वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित इस मीटिंग में परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक सीमा त्रिखा, विधायक नरेंद्र गुप्ता, विधायक राजेश नागर, विधायक नयनपाल रावत, विधायक नीरज शर्मा, मेयर सुमन बाला, सीनियर डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी सहित सभी प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। मीटिंग में केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि हमें सरकारी क्षेत्र में बेड बढ़ाने की आवश्यकता है इसके लिए हम डीआरडीओ के माध्यम से भी कोई इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि छायसा में अटल बिहारी वाजपेई के नाम से बन रहे मेडिकल कॉलेज में भी जल्द ही बेड की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कार्य चल रहा है। उन्होंने इस महामारी में मिलकर काम करने का आह्वान किया। मीटिंग में प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने अपना सुझाव दिया कि सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन का फ्लो लगातार होना चाहिए। इस पर उपायुक्त डॉ गरिमा मित्तल ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा जिला फरीदाबाद को प्रतिदिन 15 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की एलोकेशन दी गई है।  जिला में आज बोकारो से 8 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त हुई है इसके अलावा 9 मीट्रिक टन ऑक्सीजन हमें हरियाणा सरकार से मिले कोटे से भी प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि हमारे पास ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है और हम किसी भी तरह का पैनिक शहर में नहीं होने देंगे। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि हमारे पास फिलहाल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। ऑक्सीजन की निगरानी के लिए एसडीएम बल्लभगढ़ के नेतृत्व में एक कमेटी भी बनाई गई है । उन्होंने कहा कि अगले 3 दिन में हम काफी संख्या में ऑक्सीजन बेड की संख्या भी बढ़ा लेंगे। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में निगरानी के लिए सीटीएम के अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया है । यह कमेटी लगातार अस्पतालों का दौरा कर रही है और चार अस्पतालों में जाकर टीम ने काफी संख्या में लोगों को बेड भी दिलवाए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों से अपील भी की गई है कि अगर वह स्वस्थ हो चुके हैं तो वह घर पर भी आइसोलेट रह सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमें प्रतिदिन 11:00 बजे सुबह डॉक्टरों के राउंड के पश्चात बेड की स्थिति पता लगती है। मीटिंग के दौरान विधायक नरेंद्र गुप्ता ने सुझाव दिया कि हमारा उद्देश्य प्रत्येक मरीज को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देना है। उन्होंने कहा कि सभी जनप्रतिनिधि प्रशासन के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि हमें जल्द ही मरीजों की सुविधा के लिए कुछ और व्यवस्थाएं करने की भी आवश्यकता है। मीटिंग में विधायक सीमा त्रिखा, नयन पाल रावत, नीरज शर्मा, मेयर सुमन बाला व सीनियर डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी ने भी अपने सुझाव रखे। मीटिंग के अंत में उपायुक्त डॉ गरिमा मित्तल ने सभी को आश्वस्त किया कि हम सभी मिलकर कोरोना के इस लड़ाई को अवश्य जीतेंगे। उन्होंने कहा कि सभी जनप्रतिनिधि किसी भी समय उन्हें अपना सुझाव दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी सुझावों पर गंभीरता से अमल किया जाएगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here