-भूमि की उर्वरा शक्ति बनाये रखने व अधिक पैदावार के लिए न जलायें अवशेष: उपायुक्त

-पर्यावरण संरक्षण में दें किसान सहयोग, फसल अवशेष जलाना गैर-कानूनी

पलवल, 09 नवम्बर / अतुल्य लोकतंत्र :
उपायुक्त कृष्ण कुमार ने किसानों का आह्वïान किया कि वे किसी भी स्थिति में फसलों के अवशेष न जलायें। ऐसा करना किसानों के लिए किसी भी प्रकार से हितकारी नहीं है। फसलों के अवशेष जलाने से रोकने के लिए उन्होंने खंड स्तर पर इंफोर्समेंट टीमों का गठन किया है। यह टीमें विशेष रूप से रेड व येलो जोन के गांवों के लिए गठित की गई है ताकि वहां फसल अवशेष जलाने की कोई घटना न हो।
उपायुक्त कृष्ण कुमार ने कहा कि फसलों के अवशेष जलाना हर प्रकार से हानिकारक है। इससे पर्यावरण प्रदूषण को बढ़ावा मिलता है। साथ ही जमीन के लिए भी यह नुकसानदायक है। फसलों के अवशेष जलाने से भूमि की उर्वरा शक्ति कमजोर होने लगती है जिससे पैदावार भी कम होती है। वहीं मित्र कीट भी खत्म हो जाते हैं जो कि फसलों को नुकसान पहुंचाने वाले कीड़ों को खाते हैं। ऐसे में किसानों को पैदावार बढ़ाने के लिए कीटनाशकों का अधिक प्रयोग करना पड़ता है। इस प्रकार किसानों को दोगुना नुकसान उठाना पड़ता है। जबकि किसान फसलों के अवशेष से भी लाभ कमा सकते हैं। विभिन्न औद्योगिक इकाइयां व ईंट भ_ïों पर अवशेषों की बिक्री की जा सकती है।
उपायुक्त के अनुसार फसलों के अवशेष जलाने से रोकने के लिए जमीनी स्तर पर प्रयास जरूरी हैं। इसके लिए प्रशासन ने इंफोर्समेंट टीमें गठित की हैं जो इस प्रकार की घटनाओं को रोकेगी। साथ ही घटनाओं में संलिप्त लोगों को पकड़ेगी ताकि उनके विरूद्घ कानूनी कार्रवाई की जा सके। इसके साथ किसानों को जागरूक भी करेगी ताकि वे फसलों के अवशेष न जलायें। उन्होंने कहा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देशों की पूर्ण अनुपालना के अंतर्गत गठित टीमें कार्य करेंगी।
पलवल के रेड जोन व येलो जोन में आने वाले गांवों की विशेष निगरानी के लिए गठित टीमों में तहसीलदार व नायब तहसीलदारों को नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही कृषि विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों को उनके सहयोग के लिए टीम में शामिल किया गया है। उपमंडल होडल के अंतर्गत हसनपुर खंड के गांव खांबी व भिदुकी रेड जोन में तथा हसनपुर, कुशाक, पिंगोर, रायदसका येलो जोन में आते हैं जिसमें नोडल अधिकारी के रूप में नायब तहसीलदार होडल नियुक्त किये गये हैं। होडल खंड के गांव बनवासा, सोंधुड, सियोली को येलो जोन में शामिल किया गया है, जिसमेंं तहसीलदार होडल को नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी दी गई है।
उपमंडल पलवल के अंतर्गत पलवल खंड के गांव असावटा, छाज्जूनगर, किथवाड़ी, रसूलपुर, अलावलपुर, बडराम, जानोली, खजूरका तथा मंडकोल को येलो जोन में शामिल किया गया है। इन गांवों की जिम्मेदारी नोडल अधिकारी के रूप में नायब तहसीलदार पलवल को सौंपी गई है।

Leave a Comment