पूर्ण तैयारी के साथ जिला अधिकारी स्वयं हिस्सा लें बैठकों में: उपायुक्त कृष्ण कुमार

* उपायुक्त ने बैठक में नदारद अधिकारियों पर जताई कड़ी आपत्ति
पलवल( अतुल्य लोकतंत्र) मुकेश बघेल / जिला अधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक में नदारद रहे अधिकारियों पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए उपायुक्त कृष्ण कुमार ने कड़े निर्देश दिए कि विभागाध्यक्ष पूर्ण तैयारी के साथ स्वयं बैठक में हिस्सा लें। अपने अधीनस्थ अधिकारियों-कर्मचारियों को बैठक में न भेजें। बिना अनुमति के बैठक से गैर-हाजिर रहने तथा निर्देशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
उपायुक्त कृष्ण कुमार बुधवार को लघु सचिवालय में आयोजित जिला अधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विस्तार से विभिन्न विभागीय योजनाओं की गंभीरता से समीक्षा करते हुए जरूरी दिशा-निर्देश दिए। विशेष रूप से उन्होंने मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के संदर्भ में कहा कि यह सरकार का सर्वाधिक प्राथमिकता वाला फ्लैगशिप कार्यक्रम है, जिसमें किसी भी प्रकार की ढि़लाई व लापरवाही स्वीकार्य नहीं है। योजना के तहत लाभपात्रों की वैरिफिकेशन गंभीरता व ईमानदारी के साथ की जाए। जोनल कमेटी के अधिकारी स्वयं निजी तौर पर जांच करें। इसके साथ ही उन्होंने परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य को भी तीव्र गति प्रदान कर पूण्र करने के निर्देश दिए।
उपायुक्त ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत पोषण के जरूरतमंद बच्चों की सूची तुरंत प्रभाव से प्रेषित करने के निर्देश दिए। उन्होंने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, आपकी बेटी हमारी बेटी तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि कोई आवेदन लंबित नहीं रहना चाहिए। प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिए कि निर्धारित लक्ष्य समयबद्घता के साथ पूरा किया जाए। हर पात्र को योजना का लाभ मिलना चाहिए, जिसके लिए विशेष कैंप आयोजित किये जायें। उन्होंने कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगाने के लिए नियमित रूप से पीसी पीएनडीटी अधिनियम के तहत रेड मारने के निर्देश दिए। उन्होंने संस्थागत डिलीवरी के लिए भी जागरूकता बढ़ाने पर बल दिया। कोरोना से बचाव के लिए वैक्सिनेशन के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी विभाग एकजुट होकर सहयोग करें।
उपायुक्त कृष्ण कुमार ने खेल विभाग के तहत खेल स्टेडियम निर्माण इत्यादि की भी समीक्षा की। उन्होंने पृथला, खेडला व मंडकौला और बंचारी के खेल स्टेडियमों में इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए इनको मनरेगा के तहत टेक अप करने के निर्देश दिए। उन्होंने मेरी फसल मेरा ब्यौरा, मेरा पानी मेरी विरासत, स्वच्छ भारत मिशन, सांसद निधि योजना, नेशनल रूरल हैल्थ मिशन, प्रधानमंत्री ग्राम आदर्श योजना, विधायक आदर्श ग्राम योजना इत्यादि की भी विस्तृत समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने अटल भूजल योजना की सफलता के लिए सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे संबंधित विभाग को हर संभव सहयोग प्रदान करें। यह योजना भविष्य को सुखद बनाने में कारगर सिद्घ होगी। वर्तमान में भी इसकी अत्यधिक उपयोगिता है। साथ ही उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत हर घर में नल और हर नल में जल को सुनिश्चित किया जाए।
इस दौरान उपायुक्त ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मुख्यालय अथवा आला अधिकारियों और जिला प्रशासन की ओर से पूछ जाने वाले सवालों का तुरंत प्रभाव से जवाब दें। किसी भी सूरत में रिमाइंडर की आवश्यकता न पड़े। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह, एसडीएम वैशाली सिंह, एसडीएम लक्ष्मीनारायण, जिला परिषद के सीईओ प्रशांत, सीएमजीजीए अरविंद, सिविल सर्जन डा. ब्रह्मïदीप, डीईओ अशोक बघेल आदि अधिकारीगण मौजूद थे।

Leave a Comment