10 दिन पहले विनोद हत्याकांड में शामिल तीसरे आरोपी श्रवण को क्राइम ब्रांच 65 ने किया गिरफ्तार

हत्या के मास्टरमाइंड आरोपी बब्बन तथा वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी कुंदन को पहले ही किया जा चुका है गिरफ्तार

फरीदाबाद: 10 दिन पहले भगत कॉलोनी के रहने वाले विनोद की हत्या के मामले में क्राइम ब्रांच 65 प्रभारी ब्रह्म प्रकाश की टीम ने वारदात में शामिल तीसरे आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम श्रवण है जो बिहार के बेगूसराय जिले का रहने वाला है और फिलहाल फरीदाबाद की बाटा रोड पर रह रहा था। 10 दिन पहले 5 जून श्याम आरोपी ने अपने दो अन्य साथियों कुंदन तथा नीरज के साथ मिलकर सुपरवाइजर विनोद की हत्या कर दी थी। इस हत्या का मास्टरमाइंड आरोपी बब्बन था जिसने आरोपी कुंदन श्रवण तथा नीरज को मारने का लालच दिया था। इस मामले में पुलिस द्वारा दिनांक 9 जून को आरोपी बब्बन तथा कुंदन को गिरफ्तार करके 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पुलिस रिमांड के दौरान वारदात मृतक की मोटरसाइकिल बरामद की गई तथा वारदात में शामिल तीसरे आरोपी श्रवण को गिरफ्तार किया गया। इस मामले में शामिल आरोपी नीरज की पुलिस द्वारा तलाश की जा रही है जिसे जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

मृतक विनोद गुड ईयर कंपनी में सुपरवाइजर के रूप में कार्य करता था और दूसरी कई कंपनियों के लिए ठेकेदारी का काम भी करता था। आरोपी बब्बन तथा कुंदन विनोद के पास ही कार्य करते थे। 15-20 दिन पहले आरोपी बब्बन ने विनोद से प्लॉट खरीदने के लिए 16 लाख रुपए रुपए उधार लिए थे। बब्बन विनोद को पैसे वापस नहीं लौटाना चाहता था और उसकी हत्या करके उसकी ठेकेदारी का सारा काम भी हड़पना चाहता था। इसीलिए उसने अपने साथी आरोपी कुंदन नीरज तथा श्रवण को विनोद की हत्या करने के लिए 05 लाख रुपए का लालच दिया। आरोपियों ने 5 जून की शाम विनोद को फोन किया और कहा कि उन्हें काम करने के लिए लेबर मिल गई है इसलिए वह 50 हज़ार रुपए लेकर उन्हें एडवांस देने के लिए आईएमटी में बंद पड़ी एक फैक्ट्री में पहुंच जाए जहां आरोपी श्रवण गार्ड की नौकरी करता था, वहां पर लेबर की डील पक्की की जाएगी। विनोद आरोपियों की बातों में आ गया और 50 हज़ार रुपए रुपए लेकर अपनी मोटरसाइकिल पर सवार होकर बताए गए स्थान पर पहुंचा जहां फैक्ट्री की छत पर आरोपियों ने चाकू से गोदकर विनोद की हत्या कर दी और उसकी लाश को फैक्ट्री के बेसमेंट में छुपा दिया। आरोपियों ने सबूत मिटाने के उद्देश्य से विनोद की मोटरसाइकिल को आगरा कैनाल में फेंक दिया जिसे बाद में पुलिस द्वारा बरामद किया गया। विनोद द्वारा लाए गए 50 हजार में से 20 हजार श्रवण तथा 20 हजार कुंदन तथा 10 हजार नीरज ने रख लिए। विनोद के परिजनों ने थाना सिटी बल्लबगढ़ में विनोद की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करवाई जिसके आधार पर विनोद की तलाश शुरू की गई। पुलिस को गुमराह करने के लिए आरोपी बब्बन करीब 100 लोगों के साथ पुलिस चौकी चावला कॉलोनी के सामने नारेबाजी करने लगा। मामले की जांच के दौरान पुलिस को आरोपी बब्बन पर शक हुआ जिसके पश्चात पुलिस ने आरोपी बब्बन पर निगरानी करनी शुरू कर दी। दिनांक 8 जून को आरोपियों ने पुलिस के डर से लाश को फैक्ट्री से निकालकर सेक्टर 67 चंदावली गांव एचएसआईडीसी ऑफिस के सामने फेंक दिया। पुलिस द्वारा मृतक के परिजनों के माध्यम से लाश की शिनाख्त की गई और लाश को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया गया जिसमें मृतक के गले व बॉडी पर तेजधार हथियार के निशान पाए गए। क्राइम ब्रांच 65 ने इस मामले में आगे की कार्रवाई करते 09 जून हुए सबूतों के आधार पर मामले में शामिल आरोपी बब्बन व कुंदन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को अदालत में पेश करके 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि आरोपी कुंदन, नीरज तथा श्रवण ने मिलकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया था वही आरोपी बब्बन ने इस हत्याकांड की योजना बनाई थी। आरोपियों की शिनाख्त पर 14 जून को मामले में शामिल आरोपी चौकीदार श्रवण को भी गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस द्वारा मृतक विनोद की मोटरसाइकिल नहर से बरामद की गई तथा विनोद द्वारा लाए गए पैसों में से आरोपी श्रवण के कब्जे से 4800 तथा कुंदन के कब्जे से ₹6000 बरामद किए गए। आरोपियों ने बताया कि बाकी के पैसे उन्होंने खर्च कर दिए हैं। पुलिस रिमांड पूरा होने के पश्चात आज आरोपी श्रवण सहित आरोपी बब्बन तथा कुंदन को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है तथा इस मामले में शामिल आरोपी नीरज की पुलिस द्वारा तलाश की जा रही है जिसे जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

Leave a Comment