PCB डिजाइन व फेब्रिकेशन पर एक सप्ताह की कार्यशाला का आयोजन

Faridabad/Atulya Loktantra : जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा साफ्टवेयर की मदद से प्रिंटेड सर्किट बोर्ड (पीसीबी) की डिजाइनिंग तथा इलेक्ट्राॅनिक्स और इलेक्ट्रिकल सर्किट की जांच को लेकर कार्य अनुभव प्रदान करने के लिए पीसीबी डिजाइन व फेब्रिकेशन पर एक सप्ताह की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यशाला का संचालन संयुक्त रूप से इलेक्ट्राॅनिक्स इंजीनियरिंग विभाग तथा इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग द्वारा किया जा रहा है। यह कार्यशाला टीईक्यूआईपी-3 परियोजना के तहत आयोजित की जा रही है।

कार्यशाला का शुभारंभ आज कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने किया तथा अपने संबोधन में कहा कि इंजीनियर्स और तकनीकीविद् समाज में विभिन्न समस्याओं का समाधान करने में अपनी अहम भूमिका निभा सकते है। मौजूदा समस्याओं के समाधान खोजने और ऐसे समाधान के लिए अनुसंधान द्वारा सीखने के महत्व पर बल देते हुए कुलपति ने विद्यार्थियों को बहु-विषयक अनुप्रयोगों को जानकारी लेने तथा रोबोटिक्स, इंटरनेट आफ थिंग्स, बिग-डेटा एनालिटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी नई तकनीकों को सीखने पर ध्यान केन्द्रित करने का आह्वान किया।

कार्यशाला को सीईईआरआई, पिलानी के पूर्व निदेशक तथा जामिया हमदर्द विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डाॅ. शमीम अहमद ने भी संबोधित किया। डाॅ अहमद इलेक्ट्राॅनिक्स इंजीनियरिंग विभाग में अनुबंधक संकाय के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे है। इससे पूर्व, इलेक्ट्राॅनिक्स इंजीनियरिंग विभाग की अध्यक्ष डाॅ. पूनम सिंघल तथा इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग की अध्यक्ष डाॅ. नीलम तुर्क ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार को पौधा भेंट किया। इस अवसर पर इंजीनियरिंग व तकनीकी संकाय के डीन डाॅ. तिलक राज तथा कुलसचिव डाॅ. राज कुमार भी उपस्थित थे। कार्यशाला का समन्वयन सुश्री शकुंतला, सहायक प्रोफेसर, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग द्वारा किया जा रहा है।

डाॅ. पूनम सिंघल ने कहा कि इस कार्यशाला में भाग लेने के बाद विद्यार्थी किसी भी इलेक्ट्रॉनिक्स परियोजना के पीसीबी की डिजाइनिंग में क्षमता होंगे। यह कार्यशाला विद्यार्थियों को उनके अंतिम वर्ष की परियोजना के सर्किट बनाने में सहायक होगी। कार्यशाला के दौरान, विद्यार्थियों को एक अलग पीसीबी पर व्यक्तिगत रूप से काम करने का मौका भी मिलेगा।

Leave a Comment