दावे फेल:शहर में 12 घंटे में 45 एमएम से अधिक बारिश, प्रमुख सड़कें; सेक्टर व काॅलोनियां बनीं तालाब

0
10

रविवार आधी रात से शुरू हुई बारिश से जहां उमस से राहत मिली, वहीं नगर निगम अधिकारियों की लापरवाही ने लोगों के लिए परेशानी पैदा कर दी। इस साल एक करोड़ से अधिक राशि खर्च कर कराए गए नालों की सफाई के बावजूद निगम शहर को डूबने से नहीं बचा पाया। फरीदाबाद और पलवल में में पानी निकासी की व्यवस्था कराने वाली नगर निगम और नगर परिषद की इंजीनियरिंग बारिश ने फेल कर दी।

इसका खामियाजा शहरवासियों को भोगना पड़ा। रही सही कसर बिजली ने पूरी कर दी। पलवल में आधी रात से कटी लाइट सोमवार दोपहर करीब तीन बजे बहाल हो पाई। ऐसे में शहरवासी पानी के लिए तरस गए। यही हाल फरीदाबाद के कई इलाकों में रहा। लापरवाह बिजली विभाग के अधिकारी फोन उठाने तक से बचते रहे। फरीदाबाद में 12 घंटे में 45 एमएम से अधिक बारिश रिकार्ड की गई। मौसम विभाग के मुताबिक अभी मंगलवार को भी भारी बारिश की संभावना है।

इन इलाकों में पूरे दिन भरा रहा पानी

लगातार हो रही बारिश के कारण सोहना रोड, हार्डवेयर रोड, सारन से व्हर्लपूल चौकी, सेक्टर 21ए, बी,सी, डी, एनआईटी मेट्रो रोड, सेक्टर 22-23 रोड, सेक्टर 16, 17, 18, 19, 12, 15, 9, 8, 10, 11, एनआईटी में जवाहर कॉलोनी रोड, पर्वतीया कॉलोनी, जनता कॉलोनी, कैलगांव के पास नेशनल हाईवे, बल्लभगढ़ फ्लाईओवर से लेकर गुड ईयर चौक, बाटा चौक समेत लगभग सभी सड़कें जलमग्न रहीं। इसके अलावा सरकारी दफ्तर बड़खल एसडीएम आफिस, पुलिस कमिश्नर के सामने भी पानी जमा रहा। बल्लभगढ़ और एनआईटी की कई कॉलोनियों में लोगों के घरों में पानी घुस गया। बल्लभगढ़ बस अड्‌डा तालाब में तब्दील हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here