नशा मुक्ति अभियान चलाकर ऑटो चालकों को नशे के विरुद्ध किया जागरूक

फरीदाबाद: आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा द्वारा के दिशा निर्देश के तहत सहायक पुलिस आयुक्त यातायात विनोद कुमार के नेतृत्व में यातायात पुलिस ने आज नशा मुक्ति अभियान के तहत ऑटो चालक तथा ऑटो यूनियन के सदस्यों को नशे के विरुद्ध जागरूक किया। इस अवसर पर यातायात पुलिस की तरफ से एसीपी विनोद, ट्रैफिक एसएचओ दर्पण, ट्रैफिक ताऊ, जेडओ, टीआई सहित अन्य पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि यातायात पुलिस ने फरीदाबाद के बदरपुर बॉर्डर एरिया में जागरूकता अभियान चलाते हुए ऑटो यूनियन के सदस्यों तथा ऑटो चालकों को बताया कि नशा किसी भी अपराध की मुख्य जड़ है। नशे के कारण इंसान को बहुत अधिक मुसीबतों का सामना कर करना पड़ सकता है। शराब पीकर वाहन चलाने की वजह से सड़क पर बहुत बड़ी बड़ी सड़क दुर्घटनाएं घटित होती हैं जिसकी वजह से वाहन चालक के साथ साथ उसके आसपास चलने वाले अन्य व्यक्तियों को भी आर्थिक तथा शारीरिक नुकसान झेलना पड़ सकता है। नशे का हमारे शरीर के साथ-साथ मस्तिष्क पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। नशे की लत में धुत होकर व्यक्ति अपने परिजनों के साथ बुरा बर्ताव करता है जिसकी वजह से परिवार में रह रहे बच्चों पर भी इसका बहुत बुरा असर पड़ता है। एक व्यक्ति जब दिन भर मजदूरी करके अपने घर पहुंचता है तो उसके परिजन और बच्चे उसका बेसब्री से इंतजार करते हैं परंतु जब व्यक्ति शराब के नशे में धुत होकर घर पहुंचता है तो उसके परिजन भी उससे दूरियां बनाना शुरू कर देते हैं। ऑटो यूनियन तथा ऑटो चालकों को समझाते हुए एसीपी विनोद ने बताया कि शराब पीकर सड़क पर वाहन चलाने की वजह से सड़क दुर्घटनाएं घटित होती हैं और इसी से बचाव करने के लिए यातायात पुलिस द्वारा यह जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। सभी ऑटो चालकों से अनुरोध किया गया कि वह शराब के नशे को त्याग कर अपना समय अपने परिजनों के साथ व्यतीत करें इससे उनके साथ-साथ उनके परिजनों को भी खुशी मिलेगी और उनका जीवन सुखमय व्यतीत होगा। वहां पर मौजूद सभी ऑटो चालकों तथा ऑटो यूनियन के सदस्यों ने नशा न करने की शपथ ग्रहण की और पुलिस प्रशासन को भरोसा दिलाया कि वह शराब पीकर ऑटो नहीं चलाएंगे तथा अपने साथियों को भी नशे से दूर रहने के लिए जागरूक करेंगे।

Leave a Comment