धारा 370 को तोड़कर मोदी ने साकार किया श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना : गोपाल शर्मा

भाजपा द्वारा डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी के  बलिदान दिवस  पर कार्यक्रम आयोजित
फ़रीदाबाद  23 जून  I आज भारतीय जनता पार्टी ज़िला कार्यालय अटल कमल पर भारतीय जनता पार्टी फ़रीदाबाद के ज़िला अध्यक्ष गोपाल शर्मा के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की पुण्यतिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाया  I भाजपा ज़िला अध्यक्ष गोपाल शर्मा ने पदाधिकारियों  और कार्यकर्ताओं के साथ उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए I गोपाल शर्मा ने डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी के विचारों और उनके जीवन दर्शन पर कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया  I

गोपाल शर्मा द्वारा कार्यालय परिसर में एक पौधा लगाकर पौधरोपण अभियान का शुभारंभ किया गया। ।  फरीदाबाद में मंडल स्तर पर आयोजित कार्यक्रमों में  केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, हरियाणा सरकार में मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक सीमा त्रिखा, राजेश नागर,  नरेन्द्र गुप्ता, स्थानीय निकाय प्रदेश सह संयोजक देवेन्द्र चौधरी, किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष सोहन पाल सिंह, पूर्व महापौर सुमन बाला और   भाजपा प्रदेश जिला, मंडल  पदाधिकारियों व  कार्यकर्ताओं ने श्यामाप्रसाद मुखर्जी को पुष्पांजली कर अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की  । गोपाल शर्मा ने बताया  कि प्रधानमन्त्री जवाहरलाल नेहरू के हस्तक्षेप के चलते जम्मू कश्मीर का भारत में पूरी तरह से विलय नहीं हो पाया I जिसके फलस्वरूप श्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जम्मू-कश्मीर राज्य का अलग संविधान और धारा 370 के ख़िलाफ़ अपनी आवाज उठाई  I

डॉ. मुखर्जी ने सन 1951 में भारतीय जनसंघ की स्थापना की और दो निशान, दो विधान और दो संविधान का खुला विरोध किया। 1953 में कश्मीर समस्या को लेकर बड़े संघर्ष की शुरूआत की और  जम्मू कश्मीर के सम्पूर्ण विलय के लिए एक आंदोलन किया I इस आंदोलन के चलते भारत भर में एक नारा गूँज गया कि– एक देश में दो प्रधान, दो विधान, दो निशान: नहीं चलेंगे, नहीं चलेंगे। उन्होंने 11 मई, 1953 में जम्मू कश्मीर में बिना सरकार की अनुमति के प्रवेश ले लिया I तत्कालिक कांग्रेस सरकार के कुचक्र के कारण डॉ. मुखर्जी जेल गए और जेल में ही संदिग्ध हालत में मां भारती की सेवा में अपना जीवन बलिदान किया। डॉ. मुखर्जी देश के सच्चे सपूत थे। हम सभी को उनके जीवन तथा उनके कार्यों से प्रेरणा लेनी चाहिए । देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी में धारा 370 को तोड़कर जम्मू कश्मीर का भारत में सम्पूर्ण विलय कर उनका सपना साकार किया I

ज़िला महामंत्री मूल चन्द  मित्तल ने कहा कि देश के एकता और अखंडता के लिये डॉक्टर श्यामा प्रसाद ने अपना सर्वस्व  अर्पण कर दिया। जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी…वो कश्मीर हमारा है, वो कश्मीर हमारा है…वो सारा का सारा है, जिस जम्मू कश्मीर के सम्पूर्ण विलय के लिए डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने अपने प्राणों की आहुति दी, लगभग 65 साल बाद अगस्त  2019 में देश  के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने धारा 370 को सदा के लिये समाप्त कर डॉक्टर श्यामा प्रसाद जी के  जम्मू कश्मीर के सम्पूर्ण विलय के सपने को साकार किया I जो आज श्यामा प्रसाद मुखर्जी को सच्ची श्रद्धांजलि है । आज के कार्यक्रम में ज़िला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, जिला महामंत्री मूलचन्द मित्तल , डॉ आर एन सिंह, जिला सचिव मुकेश अग्रवाल, जिला मीडिया सह-प्रभारी राज मदान, पंकज सिंगला, वज़ीर सिंह डागर, टोनी पहलवान, तेज सिंह सैनी, संदीप बंसल,सुनील कुमार,शेखर, सुदर्शन कुमार व मोर्चों के जिला अध्यक्ष व महामंत्री और पदाधिकारी,  मंडलों के अध्यक्ष व अन्य प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।

Leave a Comment