बालाजी शिक्षण संस्थान में सात दिवसीय बीएड वर्कशॉप का समापन

Faridabad/Atulyaloktantra: मलेरना रोड स्थित बालाजी शिक्षण संस्थान में सात दिवसीय बी.एड वर्कशॉप का आयोजन किया गया। रविवार वर्कशॉप का आयोजन किया गया. रविवार वर्कशॉप का समापन बड़े धूम धाम से किया गया. वर्कशॉप में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बी.एड के विद्याथियों में सात दिवसीय सेमिनार में महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर जानकारी दी गयी.

इस अवसर पर मुख्यातिथि अरविन्द गुप्ता जे सी बोस यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एन्ड टेक्नोलॉजी प्रोफेसर, हरियाणा यूनियन ऑफ़ जर्नलिस्ट के पूर्व प्रधान दीपक शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार पंकज मालवीय, विशेष रूप से उपस्थित रहे. कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ जगदीश चौधरी ने की.कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती के सामने दीप प्रज्जवलन से हुई. विद्याार्थियों ने भ्रष्टाचार, महिला साक्षरता, जैसे सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिए नाटक की प्रस्तुति दी. मुख्यातिथि डॉ. अरविन्द गुप्ता ने कहा कि विदाई समारोह को विद्यार्थियों को संकल्प दिवस समझना चाहिए।उन्होंने कहा की अध्यापक वही व्यक्ति बनता जिस पर समाज का कोई ऋण होता हैं.

समाज के एकीकरण की जिम्मेदारी शिक्षक की जिम्मेदारी हैं और समाज के पतन का कारण भी कई बार शिक्षक बनता हैं. उन्होंने खा कि अध्यापक अपने आप को श्रेष्ठ बनाने के लिए इस संकल्प दिवस पर संकल्प ले कि पहले सर्वेश्रेष्ठ मनुष्य बने फिर अध्यापक बने क्योकि आदर्श मनुष्य से ही शिक्षक बनता हैं. बालाजी शिक्षण संस्थान के डायरेक्टर जगदीश चौधरी ने कहा कि भ्रष्टाचार को जन्म देने वाले समाज के ही लोग हैं. इस कारण भ्रष्टाचार पनप रहा हैं. उन्होंने कहा कि अध्यापक समाज का निर्माता हैं. वही समाज में फैली कुरीतियों को दूर करता हैं. इस अवसर पर बालाजी कॉलेज के प्रोफेसर चेतन, उषा चौधरी सहित जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बी एड फर्स्ट के विद्यार्थी मौजूद रहे.

Leave a Comment