देशभर से आए कलाकारों को मिला परंपरागत, कलाश्री, कलानिधि, कलामणि व कलारत्न अवार्ड

0

Surajkund Fest, Faridabad/Atulya Loktantra : 34 वें अंतरराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले के समापन अवसर पर रविवार को महामहिम राज्यपाल ने हस्तशिल्प के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने वाले कलाकारों को परंपरागत कला, कलाश्री, कलानिधि, कलामणि व कलारत्म अवार्ड से सममानित किया गया। उन्होंने नकद राशि, स्मृति चिन्ह व सममान पत्र प्रदान किया गया। हिमाचल प्रदेश के टूरिज्म विभाग को अवार्ड आफ एक्सीलेंस प्रदान किया गया।

कलाश्री पुरस्कार में ओडिसा के प्रभाकर महाराणा को पत्थर पर नककाशी के लिए, आंंध्रा प्रदेश के गौरा मतनी रमनैया को साड़ी में एंब्रायडरी, पश्चिमी बंगाल को सुंशात बासक को साड़ी, हिमाचल प्रदेश के अंकित वर्मा को मैटल क्राफट में, तमिलनाडु के एस केशवन को तंजोरी पेंटिंग, अफगानिस्तान के तिमोरजादा को कारपेट में और अफगानिस्तान के ही होमयन को भी कारपेट बुनाई में और जममू कश्मीर को फराज अहमद मीर को कश्मीरी शॉल में बेहतर कार्य के लिए 2100 रुपये, प्रमाण पत्र व शील्ड भेंट की गई।

कलानिधि अवार्ड के लिए राजस्थान के गोपाल प्रसाद शर्मा को फड पेंटिंग, हरियाणा के राजेंद्र प्रसाद भोंडवाल को लकड़ी का कार्य, गुजरात के वेंकट देव को गुजराती शॉल, इंडोनेशिया के दशमोंद को बटिक में, मध्य प्रदेश के रविंद्र ठाकुर को कैन बेंबूू में, महारास्ट्र के राजाराम शंकर शतकुटे को कोल्हापुरी चप्पल में, हिमाचल प्रदेश की इंदू शर्मा को चंबा का रूमा जम्मू- कश्मीर की मुकित सोसायटी की निधि शर्मा को पराली से चप्पल व अन्य प्रयोग की वस्तुएं बनाने पर 5100 रुपए, प्रमाण पत्र व शील्ड से सममानित किया गया।

कलामणि पुरस्कार पाने वालों में यूपी से सरदार हुसैन को ट्रि आफ लाईफ बनाने पर, उज्जबेकिस्तान के फैरूजा अमनोवा को एंब्रांयडरी, हिमाचल प्रदेश के ओमप्रकाश मल्होत्रा को शाल आर्टवेयर, लद्दख के कुंजांग डोलमा को पश्मीना शॉल, दिल्ली के मोहमद मतलूब को लकड़ी की कारीगरी, गुजरात के हिराभाई विरजीभाई चौहान को कपड़े पर एंब्रायडरी, हिमाचल प्रदेश के नरोतम राम को शाल पर कढ़ाई और यूपी के अनूप राय को प्रिमेटिव क्राफट शिबोरी (प्राकृतिक रंगों से कपड़े पर रंगाई ) के लिए 11 हजार रुपये, सर्टिफिकेट व शील्ड प्रदान की गई। परंपरागत कला में राजस्थान को विनोद कुमार जांगिड़ को घड़ी फोल्डिंग में 11 हजार रुपये, शील्ड व प्रमाण पत्र दिया गया। कलारत्न पुरस्कार में उज्बेकिस्तान के मामायासूपू को ड्रैस मैटिरियल में बेहतरीन कार्य के लिए सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here