विद्यार्थियों के खाते में बिना देरी के डलेगी भत्ता राशि सरकारी स्कूलों में

0
3
विद्यार्थियों के खाते में बिना देरी के डलेगी भत्ता राशि सरकारी स्कूलों में
विद्यार्थियों के खाते में बिना देरी के डलेगी भत्ता राशि सरकारी स्कूलों में

फरीदाबाद, 10 सितम्बर। जिला उपायुक्त जितेंद्र यादव ने बताया कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने  वाले विद्यार्थियों को मिलने वाले सरकारी भत्ते बिना देरी के सीधी आनँलाइन खाते में आएंगी।

उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने बताया कि पोर्टल पर विद्यार्थियों के खाता नंबर गलत हैं। जो कि अभी विद्यार्थियों के जो खाते पीएफएमएस पोर्टल पर दर्शाए गए हैं। उनमें से अधिकतर के अकाउंट नंबर भी ठीक नहीं हैं। बैंक मर्ज होने के कारण आईएफएससी कोड बदलने से भी दिक्कत आ रही है। इससे भी इन बच्चों के खाते में समय पर सरकारी भत्ते नहीं आ पा रहे हैं।

50% for Advertising
Ads Advertising with us AL News

विद्यार्थियों के खाते में बिना देरी के डलेगी भत्ता राशि सरकारी स्कूलों में

उपायुक्त ने बताया कि अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड में से अगर एक भी संख्या गलत होगी तो मिसमैच का मैसेज आएगा। जिससे विद्यार्थी खाते में पैसे आने से वंचित हो रहे है। इसको लेकर शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों के बैंक खातों के अकाउंट वेरिफिकेशन पोर्टल बनाया है।

उन्होंने बताया कि पीएफएमएस डाटा यानी पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम पर जो डाटा है, वह दुरुस्त नहीं है। जिसके चलते विभाग ने नया पोर्टल बनाया है। इस पर जो डाटा अपलोड होगा वह पहले अपडेट किया जाएगा।

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार स्टूडेंट अकाउंट पोर्टल शिक्षा विभाग ने बनाया है। इस पर अपडेट अकाउंट अपलोड किए जाएंगे। इसके बाद सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को सरकार की तरफ से दिए जाने वाले भत्ते बिना देरी के खाते में आएंगे।

District Deputy Commissioner Jitendra Yadav: Allowance amount will be deposited in government schools without delay

जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि सरकार की ओर से भत्ता व प्रोत्साहन राशि में कक्षा 1से 8वीं तक के सभी श्रेणी के छात्रों के लिए निशुल्क वर्दी योजना है। इसके साथ ही पहली से पांचवी तक के 800 रुपए प्रति विद्यार्थी दिए जाते हैं। छठी से आठवीं तक के एक हजार रुपए प्रति विद्यार्थी नॉन एससी छात्र को मुफ्त स्कूल बैग मिलते हैं। पहली से पांचवी तक के 120 रुपये प्रति विद्यार्थी दिए जाते हैं। छठी से आठवीं तक के 150 रुपए प्रति विद्यार्थी नॉन एससी छात्र को मुफ्त लेखन सामग्री दी जाती है। उन्होंने आगे बताया कि पहली से पांचवीं तक के 100 रुपए प्रति विद्यार्थी सरकार द्वारा दिए जाते है।

पोर्टल अपडेट होने से पात्र विद्यार्थियों को सरकार की ओर से भेजी गई राशि समय से खाते में मिल जाएगी

उन्होंने बताया कि इससे ऊपर की क्लास में भी छात्रवृत्ति आती है। नए पोर्टल पर अपडेट नंबर अपलोड होंगे। उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग ने जो नया पोर्टल बनाया है।

उस पोर्टल पर अध्यापक बच्चों के सही खाते नंबर सही आईएफएससी कोड के साथ अपलोड करेंगे

  • इस प्रकार के आदेश मुख्यालय से आए हैं।
  • इस बारे सभी ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों को हिदायतों के बारे में बता दिया गया है।
  • उन्होंने बताया कि स्कूल मुखियाओं को भी यह निर्देश दिए गए हैं कि वे सभी टीचर्स को बताए जिससे नई व्यवस्था के तहत पोर्टल पर डाटा अपलोड हो सके।

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी डॉ मुनेश चौधरी ने आज शुक्रवार खंड बल्लबगढ़ के अधीन आने वाले 107 सभी प्राइमरी स्कूलों के मुख्य अध्यापकों के साथ कोविड-19 के दिशा निर्देशों की पालना करते हुए राजकीय ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल सैक्टर-3 में दो पारियों  में मीटिंग का आयोजन किया गया।

जिसमे खंड शिक्षा अधिकारी, श्रीमती बलबीर कौर,एमआईएस कोर्डिनेटर श्री नरेंदर, प्रोग्राम एग्जीक्यूटिव मिड डे मील श्रीमती नीलम यादव, श्रीमती समीता गर्ग ने भाग लिया।   जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी डाँ मुनेश चौधरी ने विद्यार्थियों के खाते सत्यापन करने, खाता खुलवाने और आधार कार्ड से खाता जुड़वाने, परिवार पहचान पत्र (पीपीपी/फैमिली आईडी), वजन तौलने की मशीन, मिड-डे मील के तहत किचन गार्डन, कोविड-19 टीकाकरण, अवसर ऐप पर उपस्थिति, साप्ताहिक और मासिक सर्वेक्षण, निष्ठा प्रशिक्षण, डीबीटी (प्रत्यक्ष लाभ अंतरण) सहित शिक्षा विभाग द्वारा जारी तमाम हिदायतों के यथाशीघ्र क्रियान्वयन बारे दिशा निर्देश दिए।

50% for Advertising
Ads Advertising with us AL News
Previous newsदिल्ली सिविल डिफेंस कर्मी राबिया हत्या के आरोपी
Next newsवैष्णोदेवी मंदिर में धूमधाम से की गई श्री गणपति उत्सव की धूम आरंभ
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here