24 घंटे में 3 मौत:810 नए केस आए, डीसी बोले-अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टर मिलकर जीवन बचाने में करें सहयोग

1

फरीदाबाद समेत प्रदेशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना केस को देख सरकार और जिला प्रशासन की नींद उड़ गई है। फरीदाबाद में गुरुवार को 24 घंटे में तीन लोगों की मौत हो गई। जबकि 810 नए केस भी आए। इस तरह के गंभीर हालात देख सीएम मनोहरलाल और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने डीसी समेत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा बैठक कर जिले में की गई तैयारियों का जायजा लिया।

सरकार ने अधिकारियों से कहा कि हमारे पास दो विकल्प हैं। पहला लॉकडाउन और दूसरा सख्ती। लॉकडाउन सरकार लगाना नहीं चाहती। अब हमें सख्ती बरतनी होगी। सरकार ने कहा हम लोगों की सख्ती से होने वाली नाराजगी झेल सकते हैं लेकिन लाशों के ढेर नहीं देख सकते। इसके बाद डीसी ने सीएमओ समेत सभी प्राइवेट अस्पताल प्रबंधन और आईएमए पदाधिकारियों के साथ हालात की समीक्षा की।

एक बार फिर मेडिकल स्टाफ को युद्धस्तर पर काम करने की जरूरत

नाइट कर्फ्यू का सख्ती से कराएं पालन

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन से कहा कि नाइट कर्फ्यू की हमें सख्ती से पालन कराना है। साथ ही शादी समारोह के आयोजन जो रात में हैं उसका भी लोग समय बदलें। ऐसी सब बातों को ध्यान रख कोरोना संक्रमण के फैलाव को काफी हद तक हम रोक सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा हरियाणा में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। इसे नियंत्रित करने के लिए दो तरीके हैं। इसमें लॉकडाउन व सख्ती शामिल है। हम लॉकडाउन लगाना नहीं चाहते। जिन्दगी चलती भी रहे और जिन्दगियां बचती भी रहें। इसके तहत कार्य करना है।

24 घंटे में तीन की मौत, 810 नए केस

गुरुवार को 24 घंटे में डराने वाले आंकड़े आए। इस दौरान तीन लोगों ने दम तोड़ दिया। जबकि 810 नए केस आए। 94 मरीजों की हालत गंभीर बताई जा रही है। जबकि पांच मरीज वेंटिलेटर पर हैं। एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 3536 पहुंच गई। रिकवरी दर घटकर 92.5 फीसदी आ गई। 587 लोग अस्पताल में भर्ती किए गए हैं। जबकि 2949 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है।

जीवन को बचाने में करें सहयोग

डीसी ने डाक्टरों के साथ समीक्षा बैठक में कहा कि हम सब कठिन दौर से गुजर रहे हैं। ऐसे में सभी अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टर मिलकर लाेगों का जीवन बचाने में सहयोग करें। अस्पतालों में पर्याप्त बेड की व्यवस्था करें। जहां किसी प्रकार की कमी हो या समस्या आए उसे समय पर बताएं ताकि जल्द उचित कदम उठाए जा सकें। एक बार फिर मेडिकल स्टाफ को युद्धस्तर पर काम करने की जरूरत है क्योंकि यह परीक्षा की घड़ी है।

नाइक कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराएं

सरकार से मिले निर्देश के बाद पुलिस भी एक्शन मूड में आ गई है। पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने सभी थाना व चौकी प्रभारियों को आदेश दिया है कि वे नाइट कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराएं। बगैर किसी जरूरी काम के बाहर निकलने वालों पर एफआईआर दर्ज करें।

उन्होंने कहा नाइट कर्फ्यू के दौरान सिर्फ मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने वाले लोगों को ही आने-जाने की छूट होगी। सीपी ने कहा नई गाइड लाइन के अनुसार शादी समारोह में इंडोर में 50 और आउटडोर में 200 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति है। अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोगों को शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।

आइसोलेशन के छह सौ बेड खाली

डीसी की समीक्षा बैठक में सीमएओ डॉ. रणदीप सिंह पूनिया ने बताया कि ईएसआई मेडिकल कॉलेज, अलफला हास्पिटल, पार्क हास्पिटल, क्यूआरजी, फोर्टिस एस्कार्ट्स, एशियन, सर्वोदय, क्यूआरजी मेडिकेयर और मेट्रो हास्पिटल में आइसोलेशन के 988 बेड हैं। इनमें 597 बेड अभी खाली हैं। इसी तरह कुल 170 आईसीयू बेड हैं। इनमें 50 बेड अभी खाली हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here