बीते साल की अपेक्षा इस साल क्राईम रेट में भारी गिरावट : ओपी सिंह

11

फरीदाबाद। पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने अपने कार्यकाल में मिटींग के दौरान सभी पुलिस अधिकारियो को आदेश दिए कि फरीदाबाद में वारदातों को अंजाम देने वाले अपराधीयो के मन में पुलिस के प्रति इंतना खोफ होना चाहिए कि वह अपराध करने से पहले कई बार सोचे। फरीदाबाद में बीते साल की तुलना करे तो इस साल 50 दिन में क्राइम रेट में भारी गिरावट आई है। चोरी, लूट, डकैती, वाहन चोरी जैसे मामलों में भारी कमी देखने को मिली है। वहीं अगर बात हत्याओं की किया जाए तो इस साल 13 मर्डर हुए हैं। इनमे से 12 मामले अबतक ट्रेस हो चुके हैं। इनमे से अधिकतर हत्याएं लव ट्रायंगल के मामले अधिक है। इसके साथ ही सगे संबंधियों द्वारा भी कई मामलों में सामने आया है। डीसीपी हेडक्वार्टर डॉ. अर्पित जैन ने बताया कि पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने सभी सीआईए और थाना प्रभारियों को अवैध हथियार रखने वाले, एनडीपीएस एक्ट और पुराने हिस्ट्रीशीटरों पर नजर रखने को कहा गया है। शहर में उन पॉइंट्स को चिंहित करें जहां से सबसे ज्यादा चोरियां हो रही हैं। ऐसे पॉइंट्स पर खास निगरानी कर अपराधियों को काबू करें। इसके साथ ही शहर के सीमवर्ती इलाकों में आने-जाने वाले वाहनों व लोगों पर भी खास नजर रखे। बीट पुलिसिंग के चलते जनता और पुलिस के बीच खास बॉन्डिंग बनकर सामने आई है। जिसका असर क्राइम रेट को गिराने में खासा पड़ा है। अब शहर में अवैध रूप से शराब बिकने में गिरावट देखने को मिली है। वहीं एनआईटी क्षेत्र में कई जगह अवैध रूप से नशे के लिए गांजा व अफीम बिकने पर भी काफी हद तक रोक लग सकी है। पुलिस की डे और नाईट पेट्रोलिंग और कंट्रोल रूम में 24 घंटे एसीपी रैंक के अधिकारी की मोनिटरिंग से शहर के क्राइम ग्राफ को गिराने में बहुत मदद मिली है। कंट्रोल रूम में आने वाली हर कॉल पर एसीपी की नजर होती है। इसके साथ ही रैंडम तौर पर वो पीडि़तों को कॉल कर पुलिस का फीडबैक भी लेते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here