पेंटिंग के दिवाने हैं तो 33वें अंतर्राष्ट्रीय मेले का रुख करना न भूले 

57
Surajkund Faridabad/Atulyaloktantra  News : अगर आप हाथ से बनी चित्रकारी, ऑयल पेंटिंग के दिवाने हैं तो 33वें अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुंड हस्तशिल्प मेले में नीदरलैंड से आए सरदार परमजीत सिंह व उनकी धर्मपत्नी रूपिन्द्र कौर के स्टॉल नम्बर 944 पर जाना न भूलें। जहां आपको हाथ से निर्मित कलाकृतियां, ऑयल पेंटिंग्स, हाथ से बुने हुए चित्र फ्रेम व अन्य ऐसी सैकड़ों चीजें मील जाएंगी।
 जिससे आपके सपनों का घर सजाया जा सके। स्टॉल पर नीदरलैंड में फ्रिज चुम्बक नाम से प्रसिद्घ छोटी-छोटी कलाकृतियां भी उपलब्ध है। जिनसे आपके दरवाजे, खिडक़ी, गाड़ी को सजाया जा सकता है।
स्टॉल संचालक प्रेमजीत सिंह ने बताया कि वे मूल रूप से पंजाब के निवासी है परंतु पिछले 30 वर्ष से नीदरलैंड में परिवार के साथ रहते हुए यह कारोबार चला रहे हैं। उन्होंने बताया कि वे अपने देश को न भूलते हुए समय-समय पर विभिन्न राज्यों लगने वाले राज्य स्तरीय मेलों में अपनी कला का प्रदर्शन करते आ रहे है परंतु सूरजकुंड मेले में वे पहली बार आए हैं जहां उन्हें दर्शकों व ग्राहकों की काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। मेले में भाग लेने पर मेले के नोडल अधिकारी व पर्यटन विभाग के एडीएम राजेश जून ने प्रेमजीत सिंह को प्रसस्ति पत्र भेंट कर उन्हें सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here