अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में पहुंची पुलिस महानिरीक्षक

5

फरीदाबाद। समाज में महिलाओं की उपलब्धि और भूमिका को मान्यता देने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के महिला कल्याण प्रकोष्ठ द्वारा स्वावलंबन ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक (अपराध, यातायात और राजमार्ग), गुरुग्राम डॉ. राजश्री सिंह मुख्य अतिथि रही तथा कुलसचिव डॉ. सुनील कुमार गर्ग विशिष्ट अतिथि रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला कल्याण प्रकोष्ठ की अध्यक्षा डॉ. नीतू गुप्ता और स्वावलंबन ट्रस्ट के संरक्षक गंगा शंकर मिश्र व अध्यक्षा श्रीमती मेघना श्रीवास्तव ने की। इस अवसर पर ट्रस्ट के अन्य पदाधिकारी और विभिन्न गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे। महिला दिवस पर बधाई देते हुए डॉ. राजश्री ने कहा कि अगर महिलाओं को उचित अवसर और सुरक्षित वातावरण मिले तो वह कुछ भी करने में सक्षम हैं। महिलाओं के खिलाफ अपराध पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि खुद को सुरक्षित और आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रत्येक महिला को मार्शल आर्ट्स अवश्य सीखना चाहिए ताकि वे किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए सक्षम बन सकें। इससे उनके आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। इस अवसर पर उन्होंने अपने जीवन के अनुभवों को भी साझा किया और छात्राओं को प्रेरित किया। इस अवसर पर बोलते हुए स्वावलंबन ट्रस्ट की अध्यक्षा श्रीमती मेघना श्रीवास्तव ने समाज में महिलाओं की भूमिका और महत्व पर प्रकाश डाला और महिला सशक्तिकरण पर बल दिया। इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ. नीता गुप्ता ने अतिथियों और प्रतिभागियों का स्वागत किया। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के महत्व पर भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों द्वारा समाज में महिलाओं के जीवन और चुनौतियों पर आधारित एक नाटक का भी मंचन किया, जिसे सभी ने काफी सराहा। कार्यक्रम में साहित्यकार सुदर्शन रत्नाकर की पुस्तक ‘उठो, आसमान छू लो’ और भावना सक्सेना की पुस्तक ‘कांच सा मन’ का विमोचन भी किया गया। नाटक मंचन में हिस्सा लेने वाले विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here