कोविड-19 को लेकर बनेंगी 4 विशेष जेल, इन जिलों में 4 से 7 दिन तक रहेंगे कैदी और बंदी

Chandigarh/Atulya Loktantra: प्रदेश में कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए चार नई जेल बनाई जाएंगी, इन जिलों में बाहर से आने वाले बंदियों और कैदियों को रखा जाएगा। जेल करनाल, फरीदाबाद, हिसार और रेवाड़ी में बनाई जाएंगी। सीएम मनोहर लाल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है। इनके लिए नोटिफिकेशन जारी होगा। इन जेलों की क्षमता 125 से लेकर 200 तक होगी। जो बंदी, हवालाती, कैदी जेलों में आएंगे उनको पहले इन विशेष जेलों में रहना होगा। विशेष जेलों में कोरइंटाइन होने के बाद ही मुख्य जेलों में भेजा जाएगा। ये जेल एक तरह से कोरेंटाइन सेंटर का काम करेंगी।

करीब एक सप्ताह तक रहना होगा
आईजी जेल जगजीत सिंह ने बताया कि करनाल, फरीदाबाद हिसार और रेवाड़ी बनने वाली विशेष जेलों में आने वालों को 4 से 7 दिन तक रहना होगा। इसके बाद इन्हें दूसरी जेलों में भेज दिया जाएगा। विशेष जेलों में रहने का फायदा यह होगा कि अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो उसे अस्पताल ले जाया जा सकता है। चारों विशेष जेलों में सुरक्षा की दृष्टि से भी कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। जेलों में चाक-चौबंद सुरक्षा होगी। खास बात यह होगी कि इनमें गंभीर आपराधिक श्रेणी के कैदियों को नहीं रखा जाएगा।

समूचे सूबे को किया है कवर
प्रदेश के चारों कोनों को इन विशेष जेल को बनाकर कवर कर लिया गया है। एक जेल करनाल, दूसरी हिसार, तीसरी रेवाड़ी और फरीदाबाद में बनाई गई है। कोविड-19 के दौरान जेलों से पैरोल पर गए करीब 3000 कैदियों को विशेष जांच के बाद ही जेलों के अंदर एंट्री मिलेगी। ताकि पहले से जेलों में बंद कैदियों को किसी तरह से कोरोना का खतरा ना हो।

सभी तरह के प्रोटोकॉल होंगे फॉलो
आईजी ने बताया कि नई विशेष जिलों में सभी तरह के प्रोटोकॉल फॉलो किए जाएंगे। इनमें प्रमुख रूप से थर्मल स्कैनिंग, मास्क, पीपीटी किट सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाएगा। जेलों में लाए जाने वाले कैदियों, बंदियों आदि का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा । पॉजीटिव आने पर संबंधित व्यक्ति को कोरोना विशेष अस्पताल में भेज दिया जाएगा ‌।

रणजीत चौटाला, जेल मंत्री हरियाणा ने कहा कि करनाल, फरीदाबाद, रेवाड़ी और हिसार में चार विशेष जेल बनाई गई हैं। इस प्रस्ताव को सीएम ने मंजूरी दे दी है। जल्द ही नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। इन जेलों में करीब 800 कैदी और बंदी रखे जाएंगे। यहीं से मुख्य जिलों में एंट्री दी जाएगी।

Leave a Comment