श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय में नई शिक्षा नीति के कार्यान्वयन में शिक्षकों की भूमिका विषय पर वेबिनार का आयोजन

17
रतन सिंह
होडल। भारतीय शिक्षण मंडल, नीति आयोग एवं श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में नई शिक्षा नीति पर एक दिवसीय वेबीनार का आयोजन हुआ। वेबीनार का विषय नई शिक्षा नीति के कार्यान्वयन में शिक्षकों की भूमिका, जागरूकताए अभिविन्यासए चुनौतियाँ और प्रतिक्रियाएँ रहा। वेबीनार में मुख्यअतिथि के तौर पर अध्यक्ष, हरियाणा राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद्, प्रो बीके कुठियाला एवं मुख्यवक्ता के तौर पर बी आर अंबेडकर लॉ यूनिवर्सिटी सोनीपत की कुलपति प्रो विनय कपूर मेहरा शामिल हुए।
कार्यक्रम की अध्यक्षता एवं संयोजक के तौर पर डीन प्रो ज्योति राणा ने अपनी महत्वूर्ण भूमिका निभाई। विश्वविद्यालय के डीन एकेडमिक्स डॉ एस सरकार ने संगोष्ठी में उपस्थित सभी का आभार व्यक्त किया। वेबिनार में वक्ताओं के तौर पर शिक्षक एवं अधिकारी शामिल हुए। वेबीनार के दौरान हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद् के अध्यक्ष प्रो बीके कुठियाला ने कहा कि नई शिक्षा नीति को बेहतर तरीके से अपनाने की आवश्यकता है। नई शिक्षा नीति में हर प्रकार का समावेश है। भारतीय संस्कृति से लेकर संपूर्ण भारत को जानने के लिए नई शिक्षा नीति बेहद आवश्यक है। जब हम नई शिक्षा नीति का गहराई से चिंतन करेगें तो पायेंगें की इसमें हमारे विद्यार्थियों को जीवन जीने की बेहतर कला का समावेश है।
बी आर अंबेडकर लॉ यूनिवर्सिटी सोनीपत की कुलपति प्रो विनय कपूर मेहरा ने बताया कि नई शिक्षा नीति के माध्यम से जहां विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास को सुनिश्चित करने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे हैं। नई शिक्षा नीति 2020 के माध्यम से हम भारत को गुणवत्ता परक, नवाचार युक्त, प्रौद्योगिकी युक्त और भारत केंद्रित शिक्षा दे पाने में सफल होंगे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता एवं संयोजक डीन प्रो ज्योति राणा ने कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 गुणवत्ता, पहुंच, जवाबदेही, सामर्थ्य और समानता के आधार पर एक समूह प्रक्रिया के अंतर्गत बनाया गया है। जहां विद्यार्थियों के कौशल विकास पर ध्यान दिया गया है वहीं पाठ्यक्रम को लचीला बनाया गया है ताकि वे अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा का सफलतापूर्वक मुकाबला कर सके।
डीन एकेडमिक्स डॉ एस सरकार ने बताया कि हैं। नई शिक्षा नीति शिक्षा के माध्यम से मातृभाषा की ओर जोर देता है जोकि एक बेहतर पहल है। कला, क्विज़, खेल और व्यावसायिक शिल्प से जुड़े विभिन्न प्रकार के संवर्धन गतिविधियों को प्रोत्साहित किया जाएगा। कार्यक्रम में डॉ प्रीति ने बेहतर मंच संचालन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here