Rahul Gandhi Politics: राहुल गांधी ने राजनीति को उत्तर-दक्षिण में बांटा, तो जयशंकर ने समझा दिया ‘भूगोल’

0

नई दिल्ली : कुछ महीनों बाद पांच राज्यों में चुनाव होने वाले हैं। भारत में चुनाव लोकतंत्र के त्योहार जैसा मनाया जाता है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को त्रिवेंद्रम में चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान राहुल गांधी ने साउथ और नॉर्थ के लोगों में फर्क की बात कही। उनकी बात पर सियासत गर्मा गई है। विदेश मंत्री एस जयशंकर सहित तमाम नेताओं ने उनको नसीहत दे डाली।

वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कहा, ‘पहले 15 साल तक मैं उत्तर में एक सांसद था। मुझे एक अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी। मेरे लिए केरल आना बहुत नया था क्योंकि मुझे अचानक लगा कि यहां के लोग मुद्दों पर दिलचस्पी रखते हैं और न केवल सतही रूप से बल्कि मुद्दों को विस्तार से जानने वाले हैं। ‘ दरअसल, 2019 में राहुल गांधी केरल के वायनाड से सांसद चुने गए थे। राहुल गांधी ने दो जगह से चुनाव लड़ा था मगर अमेठी जो उनकी पुश्तैनी सीट है वहां से स्मृति ईरानी ने उनको चुनाव हरा दिया था।

उनके इस बयान पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने तीखा हमला देते हुए नॉर्थ और साउथ को समझा डाला। जयशंकर ने कहा कि मैं दक्षिण से ताल्लुक रखता हूं। मैं पश्चिमी राज्य से एक सांसद हूं। मैं नॉर्थ में पैदा हुआ, पला बढ़ा, वहीं पर शिक्षा हासिल की और वहीं पर काम भी किया। मैंने विश्व के समक्ष पूरे भारत का प्रतिनिधित्व किया। भारत एक है, इसको रीजन में कहकर डाउन मत करिए, इसे कभी मत बांटिए।

केंद्रीय मंत्री और अमेठी से सांसद स्‍मृति ईरानी ने भी राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला। उन्‍होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा- ‘एहसान फरामोश! इनके बारे में तो दुनिया कहती है- थोथा चना बाजे घना।’

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें