समुद्री तट से सिर्फ 500 किमी. दूर चक्रवात फनी, ओडिशा के 8 लाख लोग विस्‍थापित

0

New Delhi/Atulya Loktantra : बंगाल की खाड़ी में उठा समुद्री चक्रवात फनी अब भारतीय समुद्री तट से मात्र 540 किमी. की दूरी पर है। समुद्री सतह पर यह तूफान ‘अत्‍यंत भीषण चक्रवाती’ तूफान में बदल चुका है और तेजी से भारतीय सीमा की ओर बढ़ रही है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार यह तूफान पिछले 6 घंटों से 7 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ उत्‍तर की ओर बढ़ रहा है। यह तूफान 3 मई को ओडिशा के गोपालपुर और चंदबली के समु्द्री तट से 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से टकराने की संभावना है।

चक्रवात से ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्रप्रदेश के 9 जिले प्रभावित हो सकते हैं। तूफान से तबाही की आशंकाओं के बीच ओडिशा में 8 लाख लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर भेजा जा चुका है। वहीं एहतियात के रूप में रेलवे ने भी बुधवार को तटीय क्षेत्रों से गुजरने वाली 22 ट्रेनों को रद्द कर दिया है। इस प्रकार अब तक 103 ट्रेनें कैंसिल हो चुकी हैं।

प्रभावित क्षेत्रों के लिए 3 स्‍पेशल ट्रेन
दक्षिण पूर्व रेलवे ने जानकारी देते हुए बताया कि आज पुरी से हावड़ा के लिए दो और स्‍पेशल ट्रेन चलेंगी। ये ट्रेन दोपहर 3 बजे और शान 6 बजे रवाना होगी। इसके स्‍टॉपेज खुर्दा रोड, भुवनेश्‍वर, कटक, जाजपुर, केंदुझर रोड, भद्रक, बालासोर और खड़गपुर होंगे।

प्रभावित क्षेत्रों के लिए 3 स्‍पेशल ट्रेन
दक्षिण पूर्व रेलवे ने जानकारी देते हुए बताया कि आज पुरी से हावड़ा के लिए दो और स्‍पेशल ट्रेन चलेंगी। ये ट्रेन दोपहर 3 बजे और शान 6 बजे रवाना होगी। इसके स्‍टॉपेज खुर्दा रोड, भुवनेश्‍वर, कटक, जाजपुर, केंदुझर रोड, भद्रक, बालासोर और खड़गपुर होंगे।

8 लाख लोग विस्‍थापित
तूफान से तबाही की आशंका को देखते हुए 8 लाख लोगों को अब तक सुरक्षित स्‍थानों पर भेजा जा चुका है। अब तक राज्‍य में 879 शरण स्‍थल बनाए जा चुके हैं। इसके अलावा लोगों को शहर देने के लिए स्‍कूलों, कॉलेजों की इमारतों का भी इस्‍तेमाल किया जा रहा है।

आईएमडी ने जारी किया यलो अलर्ट
भारतीय मौसम विभाग ने तूफान फनी को लेकर ओडिशा, पश्चिम बंगला और आंध्र के 3 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग को इन क्षेत्रों में भारी तबाही की आशंका है। मछुआरों को भी 1 से 5 मई तक समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है।