August revolution ..(अगस्त क्रांति ) के नायकों की स्मृति में 8 अगस्त को नयी दिल्ली में india international centre में होगा समारोह : ज्ञानेन्द्र रावत

New Delhi / Atulya loktantra: ( Gyanendra Singh Rawat ): आगामी 8 अगस्त 2022 को अपराह्न 2 बजे से लोदी रोड,नयी दिल्ली स्थित इंडिया इंटरनेशनल सेंटर के सभागार में आजादी के 75 वें वर्ष में हो रहे अमृत महोत्सव के अवसर पर ” 1942 की अगस्त क्रांति यानी अंग्रेजो भारत छोडो़ आंदोलन के भूले – विसरे नायकों की पुण्य स्मृति” में लोकनायक जयप्रकाश अंतरराष्ट्रीय अध्ययन विकास केन्द्र ने एक समारोह का आयोजन किया है । इसकी जानकारी देते हुए वरिष्ठ पत्रकार, लेखक एवं पर्यावरणविद श्री ज्ञानेन्द्र रावत का कहना है कि स्मरणीय है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के “अंग्रेजो भारत छोड़ो” और “करो या मरो” के आह्वान पर 1942 के अगस्त क्रांति आंदोलन में देश के बहुतेरे महत्वपूर्ण नेताओं और असंख्य क्रांतिकारियों ने देश की आजादी की खातिर स्वयं को होम कर दिया था। देश को आजाद कराने में उनकी महत्वपूर्ण गौरवशाली भूमिका न केवल प्रशंसनीय है बल्कि स्तुतियोग्य भी है जो सदा-सदा प्रेरणादायक रहेगी । उनके राष्ट्र रक्षा की दिशा में अविस्मरणीय योगदान और उनकी स्मृति को आज की नई पीढ़ी को अवगत कराने की महती आवश्यकता है। इसी उद्देश्य के तहत इस आयोजन में आप सबकी गरिमामयी उपस्थिति सादर प्रार्थनीय है।

इस बारे में लोकनायक जयप्रकाश अध्ययन विकास केन्द्र के महासचिव श्री अभय सिन्हा एवं स्वागत समिति के प्रमुख डा० जगदीश चौधरी ने बताया कि इस समारोह में प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता एवं मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित माननीय श्री संदीप पाण्डेय, प्रख्यात पत्रकार एवं माधवराव सप्रे संग्रहालय भोपाल के संस्थापक पद्मश्री माननीय डा० विजयदत्त श्रीधर, प्रख्यात कथाकार माननीया चित्रा मुद्गल, प्रख्यात समाजवादी चिंतक माननीय श्री रघु ठाकुर, जुझारू नेता एवं सांसद माननीय श्री संजय सिंह, माननीय सांसद श्री समीर उरांव , माननीय सांसद श्री दुलाल चंद्र गोस्वामी , प्रख्यात पत्रकार एवं वैदेशिक मामलों के विशेषज्ञ माननीय डा० वेद प्रताप वैदिक, प्रख्यात पत्रकार माननीय श्री राहुल देव, सांसद एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री बिहार माननीय सांसद श्री सुशील मोदी, लहू पुकारेगा नामक ख्यातनामा पुस्तक के लेखक माननीय जनाब शाहनवाज कादरी साहब, प्रख्यात इतिहासकार माननीय डा० संतोष कुमार पटैरिया, साहित्यकार माननीया अलका सिन्हा आदि जाने माने साहित्यकार, इतिहासकार, चिंतक एवं पत्रकार समारोह में अपनी सहभागिता कर रहे हैं।

Leave a Comment