पिछले 6 दिन से गर्भवती पत्नी को अस्पताल भर्ती कराने के लिए पति काट रहा चक्कर

Faridabad/Atulya Loktantra : काेरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही लगातार बढ़ती जा रही है। लोग हफ्तेभर पहले टेस्ट करा चुके हैं लेकिन उन्हें रिपोर्ट तक नहीं मिल रही है। ऐसा ही एक मामला तिलपत की होराम कॉलोनी से आया है। एक गर्भवती ने 10 जून को कोरोना टेस्ट बीके अस्पताल में कराया था। महिला की डिलीवरी भी नजदीक है। कोई भी अस्पताल बगैर रिपोर्ट के भर्ती करने को तैयार नहीं हैं। उनके पति छह दिन से अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं लेकिन उन्हें पत्नी की कोरोना रिपोर्ट नहीं मिल रही है।

हैरानी की बात यह है कि स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारी सीएमओ डॉ. कृष्ण कुमार और कोविड 19 के नोडल अधिकारी डॉ. रामभगत उनकी मदद करने को तैयार नहीं हैं। तिलपत के होराम काॅलोनी निवासी प्रेमसिंह की पत्नी गुंजन सिंह गर्भवती हैं। अल्ट्रासाउंड के हिसाब से उनकी डिलीवरी डेट भी नजदीक है। उन्होंने बताया 10 जून को ईएसआई सेक्टर-8 के डॉक्टर ने पत्नी का काेरोना टेस्ट कराने के लिए बीके अस्पताल भेजा था। यहां टेस्ट भी करा लिया। टेस्ट का मैसेज और शुल्क रसीद भी मौजूद है। अब रिपोर्ट लेने के लिए वह छह दिन से अस्पताल के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन शुक्रवार तक उन्हें रिपोर्ट नहीं मिली।

Leave a Comment