राज्यसभा में हंगामा करने वाले आठ सासंदो पर सभापति वैकेया नायडू ने की कार्यवाही, सभी हुए निलंबित

0

New Delhi/Atulya Loktantra: राज्यसभा में रविवार को कृषि बिल को लेकर विपक्षी पार्टी ने जमकर हंगामा किया, जिस पर सभापति वैकेया नायडू बेहज नाराज दिखे और हंगामा करने वाले आठ सासंदो को संसद के बचे हुए सत्र से निलंबित कर दिया।

सभापति ने सोमवार को संसद की कार्यवाही के दौरान कहा कि कल का दिन राज्‍यसभा के लिए बहुत खराब दिन था. कुछ सदस्‍य सदन के वेल तक आ गए। उपसभापति के साथ धक्‍कामुक्‍की की गई। कुछ सांसदों ने पेपर को फेंका। माइक को तोड़ दिया। रूल बुक को फेंका गया। सभापति ने कहा कि इस घटना से मैं बेहद दुखी हूं। उपसभापति को धमकी दी गई। उनपर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई। संसद से निलंबित होने वाले सासंदो में डेरेक ओ ब्रायन, संजय सिंह, रिपुन बोरा, नजीर हुसैन, केके रागेश, ए करीम, राजीव साटव, डोला सेन हैं।

सभापति ने कहा कि कहा कि उपसभापति के खिलाफ विपक्षी सांसदों की तरफ से लाया गया अविश्‍वास प्रस्‍ताव नियमों के हिसाब से सही नहीं है। सभापति की कार्रवाई के बाद भी सदन में हंगामा जारी रहा।

बता दें कि रविवार को कृषि विधेयकों पर चर्चा के दौरान जमकर हंगामा हुआ। कृषि विधेयक से असतुष्ट कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सांसद वेल में पहुंच गए वही राज्यसभा में किसान बिल का विरोध कर रहे विपक्षी सांसद ने बिल छीनने की कोशिश की, जिससे उपसभापति का माइक उखड़ गया। हालांकि पास में ही खड़े मार्शल ने उन्हें रोक दिया। इस दौरान विपक्षी दलों के सांसद कृषि बिल के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करते हुए उपसभापति की चेयर तक पहुंच गए।

प्रदर्शन के दौरान सदन में हंगामा कर रहे सांसदों की वजह से आसन के सामने लगा माइक टूट गई। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद डेरक ओ ब्रायन ने उपसभापति के सामने रूल बुक फाड़ दी। डेरेक ओ ब्रायन और तृणमूल के बाकी सांसदों ने आसन के पास जाकर रूल बुक दिखाने की कोशिश की और उसे फाड़ दिया. इसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

 

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here