जिस हेडक्वार्टर का चिदंबरम ने किया उद्घाटन, उसी में आरोपी बनाकर लाई CBI

New Delhi/Atulya Loktantra : कहा जाता है कि वक्त बदलते देर नहीं लगती है, आज आपके साथ होता तो कल किसी और के साथ. पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम के साथ भी इस समय ऐसा ही हो रहा है, जो एजेंसी कभी उनके इशारे पर काम करती थी आज उसी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. और इतना ही नहीं जिस सीबीआई दफ्तर का उद्घाटन उनके गृह मंत्री रहते किया गया था, उसी दफ्तर में वह बतौर आरोपी बंद हैं.

30 जून 2011 को यूपीए सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान सीबीआई के नए दफ्तर का उद्घाटन किया गया. तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे और तत्कालीन गृह मंत्री पी. चिदंबरम विशिष्ट अतिथि. अब आज ठीक 8 साल बाद उसी सीबीआई दफ्तर में चिदंबरम को बतौर आरोपी लाया गया है, इसी दफ्तर के लॉकअप में उन्हें रात बितानी पड़ी और अफसरों के सवालों का जवाब दिया. न्यूज एजेंसी के द्वारा उस अवसर का एक छोटा हिस्सा भी ट्वीट किया गया है, जिसमें पी. चिदंबरम, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कपिल सिब्बल, वीरप्पा मोईली मौजूद हैं.

आपको बता दें कि पी. चिदंबरम यूपीए सरकार के दूसरे कार्यकाल में 29 नवंबर 2008 से 31 जुलाई 2012 तक गृह मंत्री रहे थे. उसी वक्त सीबीआई के नए दफ्तर का उद्घाटन किया गया था. बुधवार देर रात को सीबीआई ने उन्हें दिल्ली स्थित आवास से गिरफ्तार किया, अरेस्ट होने से पहले पी. चिदंबरम ने कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सफाई दी. उन्होंने इस बात की भी सफाई दी कि पिछले 27 घंटों से वह कहां थे और सीबीआई के सामने क्यों नहीं आ रहे थे.

सीबीआई ने INX मीडिया केस के मद्देनजर पी. चिदंबरम को गिरफ्तार किया है, उनपर इस मामले में रिश्वत लेने का आरोप है. सीबीआई गुरुवार को उन्हें अदालत में पेश करेगी और न्यायिक हिरासत मांगेगी. गौर करने वाली बात ये भी है कि पी. चिदंबरम के गृह मंत्री रहते सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में सीबीआई ने अमित शाह को गिरफ्तार किया था. अब करीब एक दशक के बाद अमित शाह देश के गृह मंत्री हैं और पी. चिदंबरम को सीबीआई ने ही गिरफ्तार कर लिया है.

Leave a Comment