टाटा स्टील : बर्खास्त कर्मचारी ने मैनेजर को मारी गोली, आरोपी फरार

0

Faridabad/Atulya loktantra : रंजिशन टाटा स्टील कंपनी के मैनेजर को एक बर्खास्त कर्मचारी ने पांच गोलियां मारकर मौत के घाट उतार दिया और मौके से फरार हो गया। कंपनी कर्मचारी गोली की घटना के बाद से दहशत में हैं। घटना की सूचना मिलते ही थाना मुजेसर पुलिस मौके पर पहुंच गई और मृतक मैनेजर के शव का पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए बादशाह खान अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया गया हैं। कंपनी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी बर्खास्त कर्मचारी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बाटा- हार्डवेयर रोड स्थित टाटा स्टील कंपनी के मैनेजर अरिनंदम पाल अपने कार्यालय में कार्यरत थे और आज दोपहर करीब एक बजे कंपनी का बर्खास्त कर्मचारी विश्वास पांडेय अचानक उनके कार्यालय में घुस आया और उसने मैनेजर अरिनंदम पाल पर ताबड़ तोड़ गोलियां चला दी जिससे मैनेजर अरिंदम पाल सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि उसके शरीर में कुल पांच गोलियां लगी हैं। उनका कहना हैं कि मैनेजर अरिंदम पाल सिंह की हत्या रंजिशन की गई हैं, यह भी बताया कि मैनेजर अरिंदम पाल सिंह की रिपोर्ट पर विश्वास पांडेय को अगस्त महीने में कंपनी से बर्खास्त कर दिया गया था। इसी बात की रंजिश विश्वास पांडेय ने अपने मन में पाल रखी थी।

पुलिस कहना हैं कि आज मैनेजर अरिंदम पाल सिंह कम्पनी के अंदर अपने कार्यालय में उपस्थित था। इस दौरान विश्वास पांडेय उसके कार्यालय में घुस कर उसे एक-एक करके पांच गोलियां दाग दी। जिससे उसकी घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। मैनेजर अरिंदम पाल सिंह के शव को पोस्टमार्टम के लिए बादशाह खान के अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया हैं और आरोपी बर्खास्त कर्मचारी विश्वास पांडेय के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी विश्वास पांडेय की तलाश शुरू कर दी हैं।

क्या कहना है पुलिस अधिकारी का
आज दोपहर करीब एक बजे कंपनी का बर्खास्त कर्मचारी विश्वास पांडेय अचानक मैनेजर अरिनंदम पाल के कार्यालय में घुस आया और उसने मैनेजर अरिनंदम पाल पर ताबड़ तोड़ गोलियां चला दी जिससे मैनेजर अरिंदम पाल सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। पांच गोलियां लगी हैं। टाटा स्टील कंपनी की शिकायत पर आरोपी बर्खास्त कर्मचारी विश्वास पांडेय के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। मामला नौकरी की रंजिश का है।

-अशोक कुमार, एसएचओ, थाना मुजेसर

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here